सरकार द्वारा जारी की गई 'छुट्टियों की लिस्ट' पर क्यों भड़क पड़े सोशल मीडिया यूज़र्स ?

नई दिल्ली: हिंदुस्तान में हिन्दू बहुसंख्यक हैं, ये बात अक्सर कही जाती है। लेकिन हिंदू बहुल देश में हिंदुओं के त्योहार को कितनी तरजीह दी जाती है, इसका खुलासा साल 2022 में सरकार द्वारा जारी की गई अवकाशों की सूची से हुआ है। इस सूची में रामनवमी, जन्माष्टमी और महाशिवरात्रि को वैकल्पिक अवकाश रखा गया है, वहीं पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन पर अनिवार्य अवकाश घोषित किया गया है। हिन्दू बहुल देश में श्री राम के जन्मदिवस रामनवमी, श्री कृष्ण के जन्मदिवस जन्माष्टमी और भगवान शिव के विवाह दिवस महाशिवरात्रि पर वैकल्पिक अवकाश रखने पर सोशल मीडिया यूज़र्स का गुस्सा देखने को मिला है।  

 

सरकारी छुट्टियों की इस सूची की तरफ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने सोशल मीडिया का ध्यान खींचा है। उन्होंने हॉलिडे लिस्ट 2022 को अपने ट्विटर हैंडल से साझा करते हुए लिखा कि, 'ये साल 2022 की भारत में छुट्टियों की लिस्ट है जो कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (@DoPTGoI) ने जारी की है। हैरान हूँ ये देखकर कि पैगंबर मोहम्मद का जन्मदिन कम्पलसरी हॉलिडे है पर रामनवमी, जन्माष्टमी और महाशिवरात्रि वैकल्पिक अवकाश हैं। मोहर्रम कम्पलसरी हॉलिडे है पर होली वैकल्पिक अवकाश है। गज़ब!'  पत्रकार के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर कई तरह की प्रतिक्रियाएँ सामने आ रही हैं। कोई यूज़र, हिन्दू बहुल भारत में हिंदुओं की हालत को देखकर रहम खा रहा है। तो वहीं, कोई इस बात को लेकर हैरान है कि भारत देश में होली के पर्व को कैसे को वैकल्पिक अवकाश की श्रेणी में रखा गया है।

@RAJPUT5792 ने लिखा है कि 'जब तक बड़े पदों पर कम्युनिस्ट विचार धारा के लोग बैठे रहेंगे तब तक यही होगा, सरकार में बैठे लोग भी इन पर आंख बंद करके बैठे रहते है। हमने तो होली मनाने पर कड़ी सजा पाते देखा है डिपार्टमेंट से, मुंह भी नही खोल सकते, अनुशासनहीन बता दिया जाएगा मुंह खोला तो।' वहीं, जतिन भूटानी ने केंद्र सरकार पर भड़कते हुए लिखा हैं कि, 'सिर्फ सत्ता में बैठे लोग बदले हैं, विचारधारा अब भी सूडो सेकुलरिज्म की है।' भूपेंद्र ने अपने कमेंट में लिखा कि, 'एक अल्पसंख्यक समुदाय की 4 कंपल्सरी छुट्टी और बहुसंख्यक समुदाय की सिर्फ 1 छुट्टी? क्या कमाल का सेक्युलरिज्म है।'

'आतंकियों का समर्थन' कर रहा था Twitter, जैसे ही कोर्ट पहुंचा मामला अक्ल आ गई ठिकाने

विधानसभा चुनावों में बड़ा 'गेम' कर सकता है Twitter, पहले से विवादों में है ये 'साइट'

NDTV के इस वरिष्ठ पत्रकार का हार्ट अटैक से निधन

 

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -