कोरोना को हराने के लिए 'खतरनाक' प्लान-B पर चर्चा, अधिक से अधिक लोगों को करना होगा संक्रमित

जिनेवा: पूरी दुनिया में कोरोना से छुटकारा पाने के लिए प्लान B पर मंथन हो रहा है. और ये प्लान B है हर्ड इम्युनिटी यानी अधिक से अधिक लोगों में कोरोना का संक्रमण फैलाना, जिससे कोरोना के खिलाफ सामूहिक प्रतिरोधकता उत्पन्न की जा सके. इसके लिए किसी भी कम्युनिटी में कम से कम 60 फीसद लोग संक्रमित होने चाहिए.

जहां एक ओर कई बड़े देशों के नेता और वैज्ञानिक हर्ड इम्युनिटी के इस आइडिया को कोरोना वायरस के खिलाफ बड़ा हथियार मान रहे हैं वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसको खरतनाक बताया है. कोरोना पर हुई एक प्रेस वार्ता के दौरान विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के हेल्थ इमरजेंसी डायरेक्टर डॉ माइकल रेयान ने स्पष्ट किया ये सोचना गलत है कि कोई भी देश कोरोना वायरस के लिए अपनी जनसँख्या पर कोई जादू चला कर उसमें इम्युनिटी भर देगा, हर्ड इम्युनिटी की बात तब की जाती है जब देखना होता है कि किसी जनसँख्या में कितने लोगों को वैक्सीन की आवश्यकता है. कोरोना हमारा दुश्मन नम्बर एक है, तमाम जिम्मेदार सदस्य देशों को प्रत्येक इंसान को महत्व देना चाहिए.

इस मुद्दे पर और चर्चा करते हुए WHO की कोरोना रेस्पॉन्स टीम की तकनीकी प्रमुख डॉ मारिया वान केरखोव ने कहा कि अभी तक के आंकड़ों को देखा जाए तो अभी आबादी का बहुत कम हिस्सा कोरोना से संक्रमित हुआ है. लोगों में एंटीबाडीज का अनुपात कम है, हम हर्ड इम्युनिटी का उपयोग तब करते हैं जब जब लोगों को वैक्सीन देने की बात होती है.

पाकिस्तान में कोरोना से 834 लोगों की मौत, फिर भी घरेलु उड़ानें चालू

चीन से तनातनी के बीच क्रैश हुआ अमेरिकी लड़ाकू विमान, कर रहा था अभ्यास

कोरोना परीक्षण की नई तकनीक खोजने के लिए जोस याकामन ने बनाई टीम

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -