5 लाख एड्स रोगियों की जान ले सकता है कोरोना, WHO की स्टडी में हुआ खुलासा

नई दिल्ली: एक तरफ जहां कोरोना वायरस का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है. वहीं, विश्व स्वास्थय संगठन (WHO) की एक स्टडी में चौंकाने वाली बात सामने आई है. स्टडी के अनुसार, कोरोना वायरस के कारण पांच लाख एड्स (Aids) मरीजों की जान जा सकती है.  टेलीग्राफ में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, WHO और UNAIDS मॉडलिंग के मुताबिक, अनुमान लगाया है कि अफ्रीका के सब-सहारा इलाके में अगले 6 महीनों में लगभग 5 लाख एड्स रोगियों की मौत हो जाएगी. 

बता दें कि यदि ऐसा होता है तो यह संख्या 2008 में एड्स से मरने वालों का रिकॉर्ड तोड़ देगी. रिपोर्ट के अनुसार, 2018 में अफ्रीका के सब-सहारा में अनुमानित 25.7 मिलियन लोग HIV संक्रमित थे और 64 फीसद लोग एंटीरेट्रोवायरल (ARV) थेरेपी ले रहे थे.  हालांकि कोरोना वायरस की वजह से कई सारे एचआईवी क्लीनिक बंद हो गए. जिसकी वजह से एड्स के मरीज अपनी दवा के डोज मिस कर रहे हैं.

स्टडी में बताया गया है कि यदि एड्स मरीजों की एआरपी थैरेपी नहीं मिलती है तो उनके शरीर में एचआईवी वायरस की मात्रा बढ़ने लगती है. यदि इस पीड़ित शख्स से किसी भी तरह से किसी अन्य व्यक्ति संक्रमित होता है, तो एड्स मरीजों की तादाद भी बढ़ेगी. रिपोर्ट के अनुसार, यदि इन्हें दवा और थैरेपी सही वक़्त पर नहीं मिलती है, तो आने वाले छह महीनों में मोजाम्बिक में 37 फीसद मरीज बढ़ जाएंगे. मलावी और जिम्बॉब्वे में 78-78 फीसदी और यूगांडा में 104 फीसदी बच्चे HIV से संक्रमित हो सकते हैं. 

UFC : मुकाबले के दौरान टेक्सीरा ने तोड़े स्मिथ के दांत

इस दिन अमेजन प्राइम पर रिलीज होगी फिल्म गुलाबो-सिताबों

कुछ वायरस दुनिया से कभी नहीं जाते, कोरोना भी ऐसा हो सकता है - WHO

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -