जान के साथ खिलवाड़ करने वाले झोलाछाप धराये

गैरतगंज : आखिरकार बार-बार शिकायत मिलने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने बुधवार को झोलाछाप डाॅक्टरों को दबोचने की कार्रवाई को अंजाम दिया। पुलिस के साथ अधिकारियों ने टीम ने नगर के नंदनी नगर इलाके में अवैध क्लीनिक संचालित कर रहे एक झोलाछाप डाक्टर को इलाज करते हुए धर दबोंचा  वहीं क्लीनिक को सील कर दिया गया है।

जानकारी के अनुसार बुधवार को एसडीएम केआर चौकीकरए सीबीएमओ डाण्जेपी पटेल एवं थाना प्रभारी संजय दुबे की टीम अवैध चिकित्सा व्यवसाय कर रहे बिना डिग्रीधारी झोलाछाप डाक्टरों के खिलाफ छापामार कार्रवाई के लिए निकली। टीम के आने की भनक लगते ही नगर गैरतगंज के अधिकांश झोलाछाप डाक्टर क्लीनिक बंद करके भाग खड़े हुए।

नगर के नंदनी नगर में एक कथित डाक्टर श्रीचंद साहू अपनी क्लीनिक संचालित करते हुए अधिकारियों को मिल गया जहां टीम ने कार्रवाई की। इस क्लीनिक की जांच में अधिकारियों ने पाया कि उक्त डाक्टर बिना वैद्य डिग्री एवं बिना पंजीयन के अवैध डिग्री के नाम पर मरीजों का एलोपैथिक इलाज़ धड़ल्ले से कर रहा था। यही नहीं इस क्लीनिक पर हजारों रुपए कीमत की दवाइयों का अवैध संग्रहण भी मिला।

एसडीएम श्री चौकीकर के नेतृत्व में टीम ने सम्पूर्ण जांच कर आवश्यक सैम्पल एवं डाक्टर के कागजात व दवाइयों की जप्ती बनाकर क्लीनिक सील कर दी। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट पर इस मामले में गैरतगंज पुलिस ने उक्त डाक्टर के खिलाफ मेडिकल एक्ट की धारा 24 के तहत मामला दर्ज कर लिया है ।

गौरतलब है कि गैरतगंज के नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में दर्जनों बंगाली एवं अन्य झोलाछाप डाक्टर अवैध रूप से चिकित्सा व्यवसाय कर मरीजों की जान से खुलेआम खिलबाड़ कर रहे हैं तथा स्थाई कार्रवाई के अभाव में इन पर रोक नहीं लग पा रही है। एसडीएम का कहना है कि अब इस गोरखधंधे पर रोक लगाने के लिए नियमित मुहिम एवं स्थाई पुलिस कार्रवाई की जाएगी।

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -