इन बीमारियों की तरफ इशारा करती है आपकी सफेद जीभ

आपको बता दें जीभ हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग होती है। खाने के स्वाद का एहसास करवाने वाली जीभ को साफ रखना रोजाना के हाइज़ीन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। जीभ पर सफेद परत जमा होने से खाने का स्वाद तो खराब लगता ही है साथ ही इससे स्वास्थ्य खराब होने का खतरा भी बढ़ जाता है। डिहाइड्रेशन, एल्कोहल का सेवन, स्मोकिंग आदि कई कारण होते हैं जिनसे जीभ सफेद होने की समस्या पैदा हो जाती है। 

इस तरह शुगर लेवल कंट्रोल करेंगे आम के पत्ते

इन बिमारियों का हो सकता है खतरा 

हम आपको बता दें रोजाना वेजिटेबल ग्लिसरिन से कुल्ला करने से भी जीभ पर जमीं सफेद परत साफ हो जाती है। हल्के गर्म पानी में वेजिटेबल ग्लिसरिन डालकर कुल्ला करने से मुंह की बदबू से छुटकारा भी मिलता है। नमक के पानी में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। नमक के पानी का कुल्ला करने से जीभ पर जमीं सफेद परत खत्म हो जाती है और मुंह भी स्वस्थ रहता है।

एलर्जी की समस्या से राहत दिलाएगा पुदीने का पानी

और भी है कई उपाय 

इसी के साथ हल्दी में एंटी-सेप्टीक और एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं। यह जीभ पर जमा बैक्टीरिया और सफेदी दोनों से छुटकारा दिलाती है। हल्दी और नींबू का पेस्ट जीभ पर लगाकर ब्रश करने से जीभ की सफेद परत से छुटकारा देता है। एलोवेरा में एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं जो जीभ की सफेद कोटिंग को साफ करने में मदद करते हैं। साथ ही यह जीभ से बैक्टीरिया को भी खत्म करता है। एलोवेरा जूस से लगातार 15 दिन तक कुल्ला करने से जीभ पर जमीं सफेद परत साफ हो जाती है।

गर्मियों में अत्यधिक आम का सेवन स्वास्थ्य को पहुंचाएगा नुकसान

गर्मियों में आपको ठंडा रखेगी गुड़हल की चाय

ऐसे फैलता है इबोला वायरस, बचाव के लिए अपनाएं ये तरीके

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -