खाना बनाने में किन बर्तनों का करे इस्तेमाल

भोजन पकाते समय बर्तनों का मैटीरियल भी खाने के साथ मिक्स हो जाता है .आइये जानते है  कि किस प्रकार के बर्तन इस्तेमाल करने चाहिये, साथ ही कैसे बर्तनों के इस्तेमाल से क्या फायदे, नुकसान हो सकते हैं- 

1-टेफ्लोन के बर्तन अनेक स्वास्थ समस्याओं का कारण बन सकते हैं. टेफलोन अधिक तापमान को तो सहन तो कर लेता है, लेकिन ज्यादा अधिक तापमान में इसकी परत टूटने का खतरा होता है. ऐसे में भोजन में परफ्लूओरो नामक कैमिकल मिलने का खतरा बढ़ जाता है. इस कैमिकल से दमा के लक्षण उत्पन्न हो सकते है.   

2-कॉपर के बर्तन हीट कंडक्टर हैं. ये एसिड और सॉल्ट के साथ प्रतिक्रिया करते हैं. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के अनुसार, खाने में मौजूद ऑर्गेनिक एसिड, बर्तनों के साथ रिएक्ट करके ज्यादा कॉपर पैदा कर सकता है, जो शरीर के लिए नुकसानदेह होता है.

3-कास्ट आयरन कुकवियर का वजन ज्यादा, लेकिन कीमत कम होती है. इनमें जल्दी जंग भी नहीं लगती है. इन बर्तनों में बने खाने में आयरन कंटेंट ज्यादा होने के कारण एनिमिया के पीड़ितों को खाना बनाने के लिए इन बर्तनों का इस्तेमाल करना चाहिए.

4-मिटटी के बर्तन ऊष्मा के अच्छे सुचालक न होने और बहुत नाजुक होने के कारण, इसके बने बर्तनों में खाना बहुत देर से पकता है और इन्हें सफाई भी अच्छी तरह से नहीं हो पाती. जो आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. इसलिए मिट्टी के बर्तनों का उपयोग अब बहुत कम हो गया है.

चावल के पानी से पाए सुन्दर निखरी त्वचा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -