इस मामले में 19 भारतीय उपभोक्ता ने पत्र लिखकर सरकार से माँगा जबाव

इस मामले में 19 भारतीय उपभोक्ता ने पत्र लिखकर सरकार से माँगा जबाव

फिलहाल में एनसओ ग्रुप के जरिये 1,400 लोगों के व्हाट्सएप अकाउंट की हैकिंग की वजह से भारत के 19 लोगों ने पत्र लिखकर सरकार से जवाब मांगा है। जिन 19 लोगों ने भारत सरकार से जवाब मांगा है इन लोगों के भी अकाउंट हैक हुए हैं और पिगासस सॉफ्टवेयर के जरिए इनकी जासूसी हुई है। व्हाट्सएप हैकिंग में पीड़ित पत्रकार और सामाजिक कार्य करने वालो ने सरकार से कहा है कि एनएसओ ग्रुप द्वारा इस जासूसी के इस मामले को बाहर लाया जाए।

'सरकार बताए जासूसी के पीछे किसका है हाथ'- समाचार कम्पनी रॉयटर्स की रिपोर्ट के अनुसार व्हाट्सएप हैकिंग के शिकार 19 भारतीय उपभोक्ता ने सरकार के नाम पत्र लिखा है इसमें उन्होंने कहा है कि भारत सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि उनकी जासूसी सरकार ने करवाई है या फिर इसके पीछे किसी और का हाथ है। पत्र में कहा गया है कि यह एक सार्वजनिक चिंता का विषय है कि क्या जनता के इनकम टैक्स के पैसे का उपयोग जासूसी के लिए किया जा रहा है?

क्या है मामला- व्हाट्सएप के तहत भारत सहित दुनियाभर के 1,400 पत्रकारों और कार्यकर्ताओं की जासूसी को लेकर हंगामा मचा हुआ है। व्हाट्सएप का कथन है कि इजरायस की एनएसओ नाम की कंपनी ने अपने पिगासस सॉफ्टवेयर (स्पाईवेयर) के जरिए इस जासूसी को अंजाम दिया है। व्हाट्सएप ने अपने एक बयान में कहा है कि व्हाट्सएप एप के कॉलिंग फीचर में एक कमी की वजह से यह जासूसी हुई है। व्हाट्सएप ने इस मामले में अमेरिकी अदालत में एनएसओ ग्रुप के खिलाफ मुकदमा भी दायर किया है। व्हाट्सएप ने इजरायल की एनएसओ नाम की कंपनी पर पिगासस सॉफ्टवेयर के तहत जासूसी करने का आरोप लगाया गया है|

अभी पूरी तरह से 4G 5G शुरू नहीं हुआ, 6G नेटवर्क जारी करने की तैयारी

हैवल्स जल्द लॉन्च करेगा दुनिया का सबसे अच्छे फीचर वाला एयर प्यूरीफायर

ग्राहकों के लिए बड़ा धमाका, जियो जल्द लॉन्च करेगा स्मार्ट टीवी