WhatsApp : यूजर कॉल रिसीव न करें फिर भी इंस्टॉल हो रहा 'स्पाईवेयर'

WhatsApp : यूजर कॉल रिसीव न करें फिर भी इंस्टॉल हो रहा 'स्पाईवेयर'

सुरक्षा में बड़ी खामी का खुलासा मैसेंजर एप वॉटसएप की होने के बाद दुनियाभर में इसका इस्तेमाल करने वाले लोग सकते में हैं. हालांकि अभी यह सही-सही पता नहीं चल सका है कि कितने लोगों के फोन व्हाट्सएप के जरिए हैक किए गए. जिस एनएसओ ग्रुप पर लोगों के फोन हैक करने का आरोप है, पहले 2016 में सुर्खियों में वह सबसे पहले आया था.

Amazon पर Xiaomi सीरीज के इस फोन की फ्लैश सेल

संयुक्त अरब अमीरात की सरकार के साथ मिलकर लोगों के फोन हैक करता है. एनएसओ का सबसे मशहूर प्रोडक्ट पेगासस है. इस टूल के जरिए टार्गेट यूजर के फोन का कैमरा और माइक्रोफोन भी ऑन किया जा सकता है. साथ ही इसमें मौजूद सभी डेटा चुराए जा सकते हैं. हैकर टार्गेट यूजर को वाट्सएप के जरिए वॉयस कॉल करते थे. यूजर फोन उठाए या न उठाए, स्पाई वेयर उसके डिवाइस में इंस्टॉल हो जाता था. इसके बाद कॉल लॉग से वह कॉल गायब भी हो जाता था. उसका फोन हैक हो गया है इस तरह यूजर को इस बार मे कोई जानकारी नही मिलती थी.

Flipkart Big Shopping Days Sale में मिलेंगे बम्पर ऑफर्स, ये है डेट

प्राप्त जानकारी के अनुसार न्यूयार्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक हैकर्स द्वारा वाट्सएप के जरिए यूजर के फोन में इंस्टॉल किए गए कोड एनएसओ के अन्य कोड से काफी मिलते-जुलते थे. ताजा मामले की जानकारी इस महीने की शुरुआत में मिली. कंपनी ने 10 दिन के अंदर इसे ठीक कर अपडेट जारी कर दिया था. वाट्सएप के मुताबिक यह कहना जल्दबाजी होगी कि कितने लोग प्रभावित हुए. कंपनी का मानना है कि स्पाई वेयर काफी उन्नत किस्म का है, और इससे चुनिंदा लोग या संस्थान ही प्रभावित हुए होंगे. कोई संख्या नहीं बताई गई है. अमेरिकी अधिकारियों को जरूरी जानकारी कंपनी के अनुसार दी गई है.

Oneplus bullets wireless2 हुआ लॉन्च, जानिए खासियत

आज से Google Pixel 3a और 3a XL पर सेल में मिलेगा बम्पर डिस्काउंट

Amazon सेल में samsung के ये फोन आज से उपलब्ध