इस कारणों से होता है विडियो कॉल ड्रॉप

इस कारणों से होता है विडियो कॉल ड्रॉप


उन फीचर्स में विडियो कॉल कम्युनिकेशन के शामिल है, जिसे लेकर दुनियाभर के यूजर अक्सर शिकायत करते रहते हैं. स्पीड टेस्ट कंपनी ओकला की वेबसाइट downdetector के मुताबिक, आईफोन, आईपैड और मैक डिवाइसेज की विडियो चैट सर्विस फेस-टाइम पर यूजर्स को सबसे ज्यादा सर्वर कनेक्शन की दिक्कत होती है. विडियो कॉलिंग के साथ समस्या हर जगह है, लेकिन भारत में कमजोर फाइबर कनेक्टिविटी की वजह से यह और बढ़ जाती है. देश में टेलीकॉम कंपनियों के पास पर्याप्त स्पेक्ट्रम भी नहीं हैं. अगर किसी खास समय या मौके पर ज्यादा लोग एकसाथ डेटा का इस्तेमाल करते हैं तो कनेक्शन की दिक्कत काफी ज्यादा बढ़ जाती है.एकसमान और अच्छे डेटा फ्लो के लिए फाइबर नेटवर्क्स बेहद जरूरी होता है. चीन या सिंगापुर जैसे देशों के 75-80 पर्सेंट टेलीकॉम टॉवर फाइबर से कनेक्टेड हैं, लेकिन भारत में यह सिर्फ 20 पर्सेंट है. इसलिए डेटा ट्रैफिक को मैनेज करने में काफी दिक्कत होती है. विडियो कॉल का एक्सपीरियंस भी खराब हो जाता है. टेलीकॉम कंपनियां डेटा प्लान में लो अपलोड और डाउनलोड स्पीड देती हैं. इससे भी कॉल ड्रॉप होने सहित विडियो कॉल की गुणवत्ता प्रभावित होती है. इस दिक्कत से दो चार आप भी फेसटाइम या वॉट्सऐप कॉल के दौरान हुए होंगे.

आज Lenovo Z6 होगा लॉन्च, ये होंगे संभावित फीचर

जिस समस्या को उदाहरण के तौर पर ओकला ने फेसटाइम विडियो कॉलिंग की सर्वर के लिए खोजा है, वह लेटेंसी प्रॉब्लम हो सकती है. फिच के नितिन का मानना है कि टेलीकॉम कंपनियों को विडियो कॉल की क्वॉलिटी सुधारने के लिए इंट्रा-सिटी फाइबर इंफ्रास्ट्रक्चर में और ज्यादा निवेश करना चाहिए. टावर इंडस्ट्री के एक सीनियर एक्सपर्ट ने बताया, ‘अगर कॉल ड्रॉप की समस्या से छुटकारा पाना है, तो टावर बेस को फाइबर में देश के कम से कम 70-80 पर्सेंट बदलना पड़ेगा.

Samsung ने कैमरे को लेकर इजात की ये टेक्नोलॉजी

बेंगलुरु की टेलीकॉम और टेक्नोलॉजी रिसर्च फर्म डीएमएमआई के डेटा के मुताबिक, भारतीय यूजर्स ने 2019 में तकरीबन 9.41 करोड़ मिनट की विडियो कॉल्स की थीं. यह पिछले साल के मुकाबले 26 पर्सेंट और 2017 के मुकाबले करीब 57 पर्सेंट ज्यादा है. भारत वॉट्सऐप की विडियो कॉलिंग के लिए दुनिया का सबसे बड़ा बाजार बन रहा है. अमेरिकी मेसेजिंग ऐप पर हर दिन करीब 5 करोड़ मिनट विडियो कॉल इंटरनेट यूजर्स ने 2017 में कर रहे थे.

Honor 20 से OnePlus 7 Pro में कितना है दम, जानिए तुलना

यूजर्स को सबसे पहले सुनिश्चित कॉल ड्रॉप की समस्या कम करने के लिए कर लेना चाहिए कि उनका स्मार्टफोन का डेटा कनेक्शन जरूरत के हिसाब से लो लेटेंसी के साथ अच्छी अपलोड और डाउनलोड स्पीड दे रहा है. मतलब, आपको अपना डेटा प्लान चेक करने की जरूरत है. इसके बाद नेटफ्लिक्स के Fast या Speedtest जैसे स्पीड टेस्टिंग ऐप का इस्तेमाल करके नेटवर्क स्पीड चेक करनी चाहिए. फिर चेक कीजिए कि कौन सा ऐप आपके फोन/डेटा प्लान/ इंटरनेट स्पीड की सबसे विश्वसनीय जानकारी दे रहा है. इसी ऐप को पैमाना बनाकर आपको विडियो कॉल करनी चाहिए. इसके अलावा अगर हो सके तो जब डेटा ट्रैफिक कम हो. उस समय विडियो कॉल करने का प्रयास करें

Vodafone फ्री में दे रहा ये सुविधा

पर्सनल असिस्टेंट के पदों पर जॉब ओपनिंग, वेतन 35000 रु

इस स्मार्टफोन में Nokia ने भरे है खास फीचर