जानिए क्या होती है सरोगेसी जिसके जरिये माँ बनीं प्रियंका चोपड़ा

बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा (Priyanka Chopra) हाल ही में माँ बनी हैं। जी हाँ उन्हें सरोगेसी (Surrogacy) के जरिए मां बनने का सुख प्राप्त हुआ है। आज यानी शनिवार को प्रियंका चोपड़ा और उनके पति निक जोनस ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर फैन्स के साथ यह खुशखबरी साझा की। वैसे हम आपको बता दें कि सरोगेसी मां बनने की लिस्ट में प्रियंका अकेली नहीं हैं। जी हाँ, बल्कि प्रियंका से पहले बॉलीवुड के कई कपल भी सरोगेसी से पेरेंट्स बन चुके हैं। इस लिस्ट में प्रीति जिंटा, शिल्पा शेट्टी, करण जौहर, एकता कपूर, शाहरुख खान, आमिर खान, तुषार कपूर जैसे कई बॉलीवुड स्टार शामिल हैं। हालांकि सरोगेसी क्या होती है और यह कितनी तरह की होती है वह आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

सरोगेसी क्या है?- सरोगेसी एक महिला और एक दंपति के बीच का एक समझौता है, जो अपनी स्वयं की संतान चाहता है। जी हाँ और अगर हम आसान शब्दों में कहें तो सरोगेसी में कोई कपल अपना बच्चा पैदा करने के लिए किसी दूसरी महिला की कोख को किराए पर ले सकता है। अगर बिलकुल सामान्य शब्दों में कहे तो शिशु के जन्म तक एक महिला की ‘किराए की कोख’। वहीं सरोगेसी के दौरान मां बनने वाली कोई दूसरी महिला डोनर या फिर अपने एग्स के जरिए किसी दूसरे कपल के लिए प्रेग्नेंट होती है। वैसे सरोगेसी की मदद तब ली जाती है जब किसी दंपति को बच्चे को जन्‍म देने में कठिनाई आ रही हो या वह कोई अन्य कारण से ऐसा करना चाह रहे हों। हालांकि सरोगेसी के जरिये पैदा होने वाले बच्चे के कानूनन माता-पिता वो कपल ही होते हैं, जिन्होंने सरोगेसी कराई है। आपको बता दें कि सरोगेट मां बनने वाली महिला को गर्भावस्था के दौरान अपना ध्यान रखने और मेडिकल जरूरतों के लिए पैसे दिए जाते हैं ताकि वो प्रेग्नेंसी के दौरान में अपना और गर्भ में पल रहे बच्चे का ख्याल रख सकें।

कितनी तरह की होती है सरोगेसी: वैसे सरोगेसी मुख्यतः दो प्रकार की होती है। इनमे पहली तरह की सरोगेसी को ट्रेडिशनल सरोगेसी कहते हैं। इस सरोगेसी में पिता बनने वाले डोनर का स्पर्म सरोगेट मां बनने वाली महिला के एग्स से मैच कराया जाता है और इस दौरान बच्चे की बायोलॉजिकल मदर (जैविक मां) सरोगेट मदर ही होती है। वहीं दूसरे प्रकार में सरोगेट मदर का बच्चे से संबंध जेनेटिकली नहीं होता है यानी गर्भावस्था के दौरान सरोगेट मदर के एग का इस्तेमाल नहीं होता है। जी हाँ बल्कि इसमें सरोगेट मदर बच्चे की बायोलॉजिकल मां नहीं होती है, वो सिर्फ बच्चे को जन्म देती है। वहीं इसमें कपल्स के स्पर्म और एग्स को मैच कराकर टेस्ट ट्यूब के जरिए सरोगेट मदर के यूट्रस में प्रत्यारोपित किया जाता है।

कटरीना कैफ से लेकर फरहान अख्तर तक इन कलाकारों ने दी प्रियंका और निक को बधाई

प्रियंका चोपड़ा को सरोगेसी से बेटा हुआ या बेटी? सामने आई जानकारी

काम के बदले डायरेक्टर ने प्रियंका चोपड़ा के इन अंगों को लेकर की थी गंदी डिमांड

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -