जानिए क्या होती है अनियमित माहवारी

हर महीने मासिक चक्र के दौरान महिलाएं अनफर्टीलाइज एग्स रिलीज करती हैं. इन अंडों की सुरक्षा के लिए (संभव है की फर्टीलाइज हों) एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है जिससे गर्भाशय के ऊपर एक मोटी लाइन बन जाती है. 

यदि समय पूरा होने तक कोई भी अंडा फर्टिलाइज नहीं होता है तो यह लाइन माहवारी या पीरियड के रूप में बह जाती है. आमतौर पर 24 से 31 दिन में महिला को पीरियड होता है जो कि 4 तो 7 दिन तक रहता है. 

हालांकि, कुछ महिलाओं में हर माह होने वाली यह स्वाभाविक प्रक्रिया मिस हो जाती है या इसका समय नियत नहीं होता. यह समस्या कि लंबी बीमारी (Chronic Medical Issue) के कारण हो सकती है या फिर मेडिकल या भावनात्मक परिस्थितियों (Medical or Emotional Circumstances) के कारण. 

अनियमित माहवारी के लक्षण व कारण: 

- हार्मोन में असामान्य बदलाव.

- लंबे समय से चल रही कोई दवा.

- पेल्विक ओर्गन्स में समस्या.

- एकदम ज्यादा या कम वजन.

- खान-पान की अनियमितता.

- ज्यादा व्यायाम करना.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -