क्या आप जानते हैं शिवलिंग और वेटिकन सिटी के बीच का ये असली सच?

क्या आप जानते हैं शिवलिंग और वेटिकन सिटी के बीच का ये असली सच?

दुनिया का सबसे प्राचीन धर्म हिन्दू सनातन धर्म माना जाता है. यह दुनिया के समस्त धर्मों का जन्मदाता माना जाता है. यह आस्था ही नहीं बल्कि वैज्ञानिक दृष्टिकोण से भी दुनिया के अन्य धर्मों से श्रेष्ट माना गया है. आज दुनिया के हर मुल्क में भले ही अलग-अलग मज़हब हो पर नियम कायदों, उद्देश्यों के मामले में हिन्दू सनातन धर्म सर्वोपरि है. जानकर हैरानी होगी कि दुनिया का सबसे छोटा मुल्क और कैथोलिक धार्मिक स्थल वेटिकन सिटी का निर्माण शिवलिंग को ध्यान में रखकर बनाया गया है.

कुछ धर्म विशेषज्ञों को कहना है कि इटली के रोमन में स्थित वेटिकन सिटी पहले शिवालय था. इस बात पर इतिहासकार पी.एन.ओक ने अपने शोध में यह दावा किया था कि वेटिकन सिटी का विशाल परिसर पहले एक शिवालय था. पर ईसाई धर्म गुरुओं पोप्स ने इसका अधिग्रहण कर लिया और इसे अपना पवित्र धार्मिक स्थल घोषित कर दिया. यह दुनिया का सबसे सिक्योर देश है. जिसे संयुक्त राष्ट्र संघ ने एक देश का ही दर्जा दे दिया. यहाँ सिर्फ नन रहते हैं. 

इतिहासकारों के अनुसार कि वेटिकन सिटी की खुदाई के दौरान यहां एक शिवलिंग मिला था. तब वहां के राजा ने इसे शिवलिंग के जैसे बनाने का फैसला लिया था. बताया जाता है कि खुदाई में मिला वह शिवलिंगआज भी वेटिकन सिटी के संग्रहालय में मौजूद है. शिवलिंगनुमा आकर का यह परिसर कुल 0.2 वर्गमील क्षेत्र में फैला हुआ है. खास बात इसकी ये है कि इसकी सिक्योरिटी की जिम्मेदारी यूएन खुद ने ली है.

रेलवे ने काट दिया 1000 साल बाद का टिकिट, अब भरेगा जुर्माना

इस महिला ने की 300 साल पुराने भूत से शादी, बनाती है उसके साथ सम्बन्ध

एक्टिंग करने में शाहरुख़-सलमान से भी आगे है ये कुत्ता, देखकर हंसी आ जाएगी

?