अगर आप भी फेंक देते हैं टॉयलेट पेपर कहीं भी तो जरूर पढ़े यह खबर

Nov 14 2019 03:10 PM
अगर आप भी फेंक देते हैं टॉयलेट पेपर कहीं भी तो जरूर पढ़े यह खबर

शौच के विषय में आज के समय भी लोगों में जागरूकता नहीं है. लोग आज भी शौच को लेकर बात करने में कतराते हैं लेकिन यह हमारे जीवन का एक ऐसा हिस्सा है जो सभी के लिए जरुरी है. ऐसे में शौच के लिए जाना सभी को पड़ता है और हर दिन शौच ना जाया जाए तो पेट खराब हो सकता है इसी के साथ अन्य बीमारियां भी हो सकती है. ऐसे में शौचालय में जाने के बाद वहां इस्तेमाल होने वाले टिशू पेपर, टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल कर कई लोग उन्हें बहार भी फेंक देते हैं जो गलत है. जी हाँ, आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि टॉयलेट रोल्स या पेपर्स को बाहर फेंकने से क्या-क्या गंभीर हो सकता है.

पहले तो आप यह बात जान लीजिए कि टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल गंभीर परिणामों को दे सकता है. जी हाँ, कई एक्सपर्ट ऐसा बता चुके हैं कि टॉयलेट पेपर के इस्तेमाल से व्यक्ति पूरी तरह साफ नहीं हो पाते हैं और टॉयलेट पेपर के ज्यादा इस्तेमाल से यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन्स (UTI) और एनल फिशर जैसी बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है. इसी के साथ लोग उसके इस्तेमाल के बाद गंदगी के साथ इधर-उधर घूम रहे होते हैं लेकिन उन्हें लगता है कि वे बिल्कुल साफ हैं. इसी के साथ टॉयलेट पेपर ज्यादा रगड़ने से दर्दनाक एनल फिशर होने का खतरा रहता है और इस बीमारी निकलने में आपको 8 से 12 हफ्ते का समय भी लग सकता है. इसी के साथ इसके इस्तेमाल से यूटीआई होने का खतरा भी बना रहता है. इस कारण टॉयलेट पेपर का इस्तेमाल आपके लिए खतरनाक हो सकता है. अब बात करें दुनियाभर के उन लोगों की जो टॉयलेट सीट यूज करने से सीट पर टिशू पेपर बिछाकर बैठ जाते हैं. जी हाँ, कई लोग ऐसा करते हैं लेकिन यह भी गलत है दरअसल टॉयलेट पेपर बिछाने से बैक्टीरिया के जमा होने की आशंका अधिक हो जाती है और टॉयलेट पेपर बिछाकर बैठने से उसमे बहुत अधिक संख्या में बैक्टीरिया जमा हो जाते और संक्रमण फैलाते हैं जो आपको हो सकता है. इस वजह से कभी टॉयलेट पेपर बिछाकर ना बैठे.

अब बात करें टॉयलेट पेपर को कहीं भी, या फिर कमोड में या फिर किसी भी गड्ढे में डालने की तो यह सबसे गलत है क्योंकि ऐसा करना इंफेक्शन को फैलाने जैसा होता है. टॉयलेट पेपर से इंफेक्शन फैलते हैं जो हर किसी के लिए घातक हो सकते है. कई लोग दुनिया में ऐसे हैं जो टॉयलेट में टॉयलेट पेपर को यूजर करने के बाद बाहर फेंक देते हैं या वहीं फेंकर चले आते हैं उसे डस्टबिन में डालना उचित नहीं समझते हैं जो गलत है. क्योंकि ऐसा करने से हम गांद्दी और बीमारियों को न्यौता दे रहे हैं जो आपको बीमार करती है और उसके बाद आप दुसरो को भी बीमार बनाने में भागीदार बन सकते हैं. इस वजह से जब भी टॉयलेट जाए तो इन बातों का ध्यान रखे कि अगर आप टॉयलेट रोल, पेपर यूज कर रहे हैं तो उसे डस्टबिन में ही डालें.

शौचालय में लोग जरूर करते हैं यह सामान्य गलतियां

स्वच्छ भारत अभियान ने सुधारा गावों का हाल, शौचालय ने कम किया प्रदूषण

10 करोड़ रुपए से बना है ये गोल्डन टॉयलेट, जड़े गए हैं 40 हज़ार से अधिक हीरे