जानिए, क्या कहता है 15 मार्च का इतिहास

Mar 15 2018 12:00 AM
जानिए, क्या कहता है 15 मार्च का इतिहास

इतिहास में घटित-घटनाएं, जन्म लिए व्यक्ति, विदा लिए महान व्यक्ति, पर्व और उत्सव से जुड़ी बहुत सी ऐसी बातें जो हमें कुछ सीख दे जाती है. और कहती है कि हमें भी अपने जीवन को जीनें का ढंग सीखना चाहिए. साथ ही कैसे संघर्ष, और उत्साह के साथ आगे बढ़ना है. इस तरह की तमाम बाते सामने आती है. हम आपको आगे विस्तार से जानकारी दें रहे है. अपने लेख में आज के इतिहास अर्थात 15 मार्च से जुड़े इतिहास की आज ही के दिन देश-विदेश में क्या-क्या हुआ था किस प्रकार की घटना घटी आदि बातों से आपको अवगत कराएगे.

15 मार्च की महत्वपूर्ण घटनाएँ

1984 - पोर्ट लुई (मारिशस) स्थित महात्मा गांधी संस्थान में वहाँ के प्रधानमंत्री अनिरुद्ध जगन्नाथ द्वारा प्रथम अंतराष्ट्रीय संस्कृत सम्मेलन का उद्घाटन.

 1997 - ईरान ने पहली बार किसी महिला राजनीतिक को विदेश में नियुक्त किया.

 1999 - एल्डबजोर्ग लोवर नोर्वे की प्रथम महिला रक्षामंत्री बनीं, कोसोवो शांति वार्ता का दूसरा चरण पेरिस में आरम्भ हुआ.

 2001 - कोफी अन्नान ढाका से भारत पहुँचे, भारत-पाक वार्ता पर ज़ोर, करासे पुन: फिजी के प्रधानमंत्री नियुक्त.

 2002 - बार्सिलोना (स्पेन) में यूरोपीय संघ शिखर सम्मेलन शुरू, संयुक्त राज्य अमेरिका का चौथा प्रक्षेपास्त्र रोधी परीक्षण सफल.

 2003 - चीन में सत्ता नई पीढ़ी के हाथ, हू जिन्ताओं नये राष्ट्रपति बने.

 2007 - वोडाफ़ोन और एस्सार के बीच समझौता सम्पन्न. 

 15 मार्च को जन्मे व्यक्ति

1901 - गुरु हनुमान, भारत के महान् कुश्ती प्रशिक्षक (कोच) व पहलवान.

 1934 - कांशीराम, भारतीय राजनेता.

1947 - अजीत पाल सिंह - भारत के पूर्व हॉकी खिलाड़ी हैं.

 15 मार्च को हुए निधन

थॉमस हिल ग्रीन - थॉमस हिल ग्रीन, अंग्रेज़ विज्ञानवादी दार्शनिक, ऑक्सफ़ोर्ड विश्वविद्यालय में ह्वाइट प्रोफेसर थे.

 1985 - राधा कृष्ण चौधरी, भारतीय इतिहासकार और लेखक.

 1992 -राही मासूम रज़ा - बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी और प्रसिद्ध साहित्यकार.

 2009 - सरला ठकराल - भारत की प्रथम महिला विमान चालक.

 2009 - वर्मा मलिक - भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध गीतकार.

 2015 - नारायण भाई देसाई, स्वतंत्रता सेनानी एवं महादेव देसाई के पुत्र.

ये भी पढ़े 

जानिए, क्या कहता है 14 मार्च का इतिहास

जानिए, क्या कहता है 13 मार्च का इतिहास

जानिये, क्या कहता है 12 मार्च का इतिहास

 

?