जानिए क्यों माँ दुर्गा के पास हैं इतने अस्त्र-शस्त्र

Mar 30 2020 08:00 AM
जानिए क्यों माँ दुर्गा के पास हैं इतने अस्त्र-शस्त्र

हर साल नवरात्रि का पर्व ख़ास तरह से मनाया जाता है इस साल भी ख़ास है लेकिन इस साल कोरोना वायरस के डर से सभी अपने अपने घरों में कैद हैं और माँ का पूजन कर रहे हैं. आप सभी को बता दें कि नवरात्र में देवी मां दुर्गा के नौ रूपों की आराधना उपासना का दिन माना जाता हैं. केवल इतना ही नहीं देवी मां को नवरात्रि में प्रसन्न करना बहुत ही सरल होता हैं. आप सभी जानते ही होंगे इस साल चैत्र की नवरात्रि 25 मार्च दिन बुधवार से आरंभ हो चुकी हैं और आज नवरात्रि का छटवा दिन हैं इस दिन मां के छठवे स्वरूप माँ कात्यायनी की पूजा होती हैं. वैसे आज हम आपको बताने जा रहे हैं देवी दुर्गा की वो कहानी जो आपने कभी नहीं सुनी होगी. आइए जानते हैं .

देवी दुर्गा की एक कहानी -  जी दरअसल एक बार देवताओं ने उनसे पूछा कि देवी आपने इन शस्त्रों को क्यों उठा रखा हैं आप अपनी एक हुंकार से सभी दानवों का विनाश कर सकती हैं. तब कुछ देवताओं ने स्वयं ही उत्तर देते हुए कहा, आप इतनी दायवान हैं कि आप दानवों को भी अपने शस्त्रों के माध्यम से शुद्ध कर देना चाहती हैं आप उन्हें मुक्त करना चाहती हैं और इसलिए आप ऐसा कर रही हैं.देवी मां दुर्गा की कहानी के पीछे यह संदेश हैं कि कर्म की अपनी जगह होती हैं केवल अकेल संकल्प के होने से काम नहीं होता हैं भगवान ने मनुष्य को हाथ और पैर दिए हैं जिससे वह काम कर सकें.

इसका तात्पर्य यह हैं कि भगवान भी काम करते हैं और केवल एक हाथ से नहीं, हजारों हाथों से और हजारों तरीकों से.देवी के पास असुरों का विनाश करने के हजारों तरीके हैं. वे एक फूल से भी अधर्म का विनाश कर सकती हैं इसलिए देवी मां अपने हाथों में पुष्प भी लिए हुए हैं और फिर शंख बजाकर, ज्ञान प्रसारण करके भी. हर समस्या के बहुत से समाधान हो सकते हैं और इसलिए देवी मां के इतने सारे अस्त्र शस्त्रों से सुसज्जित हैं.

आज इस मंत्र से करे मां कात्यायनी का पूजन, जानिए पूजा विधि 

आज है नवरात्रि का छठा दिन, जानिए माँ कात्यायनी की कथा

उपवास के दौरान जरूर करे इसका सेवन, इम्युनिटी नहीं होगी कमजोर