बंगाल: जानें कौन हैं 'करीमउल हक' ? जिसे एयरपोर्ट पहुँचते ही पीएम मोदी ने लगाया गले

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चौथे चरण के लिए 44 सीटों पर वोटिंग हो रही है। चुनाव प्रचार करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार को बंगाल पहुंचे हैं। पीएम मोदी जलपाईगुड़ी पहुंचे और यहां बागडोगरा एयरपोर्ट पर उतर कर पीएम मोदी पद्म पुरस्कार विजेता करीमउल हक से मिले, जहां दोनों ने एक-दूसरे के गले लगाया।

बता दें कि समाज सेवा करने वाले करीमउल हक को पश्चिम बंगाल में बाइक एम्बुलेंस दादा के नाम से पहचाना जाता है, यह अब तक 4000 लोगों की जान बचा चुके हैं। करीमउल हक गरीब और जरूरतमंद लोगों को अपनी मुफ्त बाइक एम्बुलेंस के माध्यम से अस्पताल तक पहुंचाते हैं। करीमउल हक़ की जिंदगी की कहानी कई लोगों को प्रेरित कर सके इसके लिए एक पुस्तक भी लिखी जा चुकी है।

इस किताब का नाम है कि, ‘बाइक एम्बुलेंस दादा, द इंस्पायरिंग स्टोरी ऑफ करीमुल हक: द मैन हू सेव्ड 4000 लाइव्स’ . यह इनकी आधिकारिक बायोग्राफी है. जिसे बिस्वजीत झा ने लिखा है। बता दें कि लगभग 26 वर्ष पूर्व हक की मां की मृत्यू हो गई थी और उनकी मां की मौत की वजह थी उनकी गरीबी, उस समय करीमउल एम्बुलेंस का खर्चा उठाने में असमर्थ थे और उनकी बीमार मां को अस्पताल तक ले जाने के लिए कोई साधन नहीं है। जिसके बाद उन्होंने लोगों की मदद का बीड़ा उठाया और आज तक वे 4000 लोगों की जान बचा चुके हैं। 

 

पटियाला में कोरोना वायरस की चपेट में आए सात खिलाड़ियों

जैक मा की अलीबाबा पर लगा 2.78 अरब डॉलर का जुर्माना, की थी चीन सरकार की आलोचना

1,800 करोड़ रुपये के गोदाम कारोबार को बेचने के लिए ब्लैकस्टोन के साथ चर्चा करेगा रियल्टी फर्म दूतावास

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -