Video: पश्चिम बंगाल में भी 'तालिबानी' शासन ? सावन सोमवार पर दिखी कोलकाता पुलिस की बेरहमी

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता के बेनियाटोला इलाके में स्थित में विख्यात भूतनाथ मंदिर में पूजा करने के लिए जुटे हिन्दू श्रद्धालुओं पर सोमवार (16 अगस्त 2021) को पुलिस ने जमकर लाठियां भांजी। वैसे तो राज्य के ज्यादातर मंदिर खोल दिए गए हैं, किन्तु भूतनाथ मंदिर को अभी भी ‘कोरोना प्रतिबंधों’ के नाम पर बंद रखा गया है। श्रावण महीने में हिन्दु धर्मावलंबियों के लिए भूतनाथ मंदिर का काफी महत्व है। प्रत्येक सोमवार को कोलकाता और उसके आसपास के इलाकों से भक्त मंदिर में आते हैं। अब चूँकि मंदिर बंद है ऐसे में भक्त मंदिर के गेट के बाहर से ही प्रार्थना कर रहे हैं।

 

सोमवार को जब भक्त मंदिर में प्रार्थना करने पहुँचे, तो पुलिसकर्मियों द्वारा उनकी निर्दयता से पिटाई कर दी गई। इसके अलावा सिविल ड्रेस में भी दो लोग एक श्रद्धालुओं को पीटते नज़र आए। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है, जिसे बंगाल भाजपा यूनिट ने ट्विटर पर शेयर किया है। भाजपा ने लिखा है कि, 'भूतनाथ मंदिर के सामने भगवान शिव के भक्तों को कोलकाता पुलिस ने बेरहमी से पीटा। क्या शिवभक्त ऐसे व्यवहार के ही अधिकारी हैं? बंगाल में ममता बनर्जी का शासन तालिबानी शासन का एक छोटा रूप है।शर्मनाक।'

 

बंगाल भाजपा के उपाध्यक्ष रितेश तिवारी ने इस घटना को क्रूर बताते हुए कहा है कि कोलकाता पुलिस भूतनाथ मंदिर के सामने शिवभक्तों को बेरहमी से पीट रही है, जो एक हृदय विदारक घटना है। तिवारी ने सीएम ममता बनर्जी के शासनकाल में कानून-व्यवस्था की तुलना तालिबान शासित अफगानिस्तान से की है।

तालिबान ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से मांगी मान्यता, महिलाओं को लेकर कही ये बड़ी बात

जापान को मिला नया द्वीप, छुपी है इसके पीछे कोई खास वजह

अफ़ग़ानिस्तान में अब ख़त्म नहीं हुई जंग...उपराष्ट्रपति सालेह ने खुद को घोषित किया 'कार्यवाहक राष्ट्रपति'

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -