कोरोना पर 'सच' छुपा रही ममता सरकार ? जनता और केंद्र को बताए अलग-अलग आंकड़े

कोलकाता: एक बार फिर पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी  सरकार कोरोना मरीजों की तादाद को लेकर विवादों में घिर गई है। इस बार ममता बनर्जी सरकार ने राज्य में कोरोना संक्रमितों की तादाद हेल्थ बुलेटिन में 572, जबकि उसी दौरान केन्द्र सरकार को 931 बताई है। इसे लेकर राज्य के गवर्नर जगदीप घनखड़ ने ममता सरकार पर सवाल उठाए हैं। साथ ही ममता सरकार पर एक बार फिर सही आँकड़ों को छिपाने का इल्जाम लगाया हैं।

गवर्नर जगदीप धनखड़ ने शनिवार (2 मई, 2020) को इस पर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि ममता सरकार कोरोना संक्रमण के आँकड़ों पर पर्दा डाल रही है और प्रदेश के लोगों और केंद्र सरकार को अलग-अलग जानकारी दे रही हैं। अपने दो ट्वीट में गवर्नर धनखड़ ने लिखा, कोरोना संक्रमण के आँकड़ों पर पर्दा डालने के अभियान को सीएम ममता बनर्जी को बंद करना चाहिए। इसे पारदर्शी रूप से साझा करें।

गवर्नर ने ट्वीट करके राज्य सरकार के हेल्थ बुलेटिन और केंद्र सरकार को लिखी चिट्ठियों को शेयर किया है। राज्यपाल के आरोपों के अनुसार, ममता सरकार ने 30 अप्रैल तक कोरोना मरीजों की तादाद हेल्थ बुलेटिन 572, जबकि उसी दिन केन्द्र सरकार को स्वास्थ्य सचिव द्वारा भेजी गई चिट्ठी में राज्य के भीतर कोरोना मामलों की संख्या 931 बताई गई है। राज्यपाल जगदीप घनखड़ द्वारा साझा की गई चिट्ठी में आप देख सकते हैं कि हेल्थ बुलेटिन में बंगाल सरकार इस बात का दावा कर रही है कि राज्य में 30 अप्रैल तक कोरोना पॉजिटिव मामले 572 हैं। वहीं ट्वीट में केन्द्र सरकार को लिखी गई चिट्ठी में भी आप देख सकते हैं कि पश्चिम बंगाल के स्वास्थ्य ने केंद्र सरकार को राज्य में 30 अप्रैल तक कोरोना मामलों की तादाद 931 बताई है।

 

मध्य प्रदेश में सरकार गिरने के बाद कांग्रेस में मचने लगी है हलचल

चीन में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, लगातार बढ़ रहे नए केस

न्यूयॉर्क में इस पूरे साल नहीं खुलेंगे स्कूल, बच्चों की सुरक्षा के चलते लिया गया फैसला

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -