बंगाल सरकार का आदेश, सरकारी हेडक्वार्टर में ही रुकेंगे सभी स्वास्थ्यकर्मी

कोलकाता: कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश सहित पूरी दुनिया इस संकट में है. भारत में लगातार कोरोना वायरस से सम्बंधित मामलों में तेजी आई है और इस लड़ाई में सबसे आगे होकर लड़ रहे हैं स्वास्थ्य कर्मी. देश के कुछ इलाकों से निरंतर आ रही बदसलूकी की घटनाओं की खबरों के बीच पश्चिम बंगाल सरकार ने अब बड़ा निर्णय लिया है. सरकार ने स्वास्थ्यकर्मियों के लिए अब सरकारी मुख्यालय में ही रुकने की व्यवस्था की है.

बंगाल में अस्पताल के किसी भी कर्मी को अब जब तक वह ड्यूटी पर रहेगा, घर जाने की आवश्यकता नहीं है. राज्य में अब स्वास्थ्यकर्मियों के लिए नया रोस्टर सिस्टम जारी किया गया है. जिसमें 1 सप्ताह लगातार ड्यूटी रहेगी और अगले एक हफ्ते अवकाश रहेगा. राज्य सरकार की तरफ से जो आदेश जारी किया गया है, उसके मुताबिक राज्य में कई ऐसे स्वास्थ्यकर्मी हैं जो काफी दूर से प्रति दिन अस्पताल आते हैं और वापस घर जाते हैं, मुश्किल वक़्त में ऐसा कर पाना संभव नहीं होता है.

ऐसे में अब जब तक स्वास्थ्यकर्मी ड्यूटी पर रहेंगे, तब तक वह अस्पताल के मुख्यालय में ही रुकेंगे, यानी रोजाना घर नहीं जाएंगे. ये आदेश उन स्वास्थ्यकर्मियों पर लागू होगा, जो कि सरकारी अस्पतालों में सेवा दे रहे हैं.

Sensex : बीते कारोबारी सप्ताह में इन कंपनियों का बाजार पूंजीकरण बढ़ा

Flipkart, Amazon को सरकार ने दिया तगड़ा झटका, ब्रिकी की सामग्री हुई सीमित

क्या वाकई पेंशन में हुई 20% प्रतिशत की कटौती ? जानें सच

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -