चुनाव अधिकारी को ‘जय श्रीराम’ बोलना पड़ा भारी, चुनाव आयोग ने ड्यूटी से हटाया

Apr 22 2021 04:54 PM
चुनाव अधिकारी को ‘जय श्रीराम’ बोलना पड़ा भारी, चुनाव आयोग ने ड्यूटी से हटाया

कोलकाता: देश के कई राज्यों में अभी चुनावों का दौर चल रहा है वही पश्चिम बंगाल में ‘जय श्रीराम’ के उद्घोष को लेकर सियासी घमासान मचता रहा है। बृहस्पतिवार को छठे चरण के मतदान के चलते पूर्वी बर्धमान शहर में ‘जय श्रीराम’ कहने पर चुनाव अफसरों को चुनाव आयोग के क्रोध का सामना करना पड़ा। चुनाव आयोग ने शिकायत के पश्चात् उस अफसर को चुनावी ड्यूटी से हटा दिया। बता दें कि पश्चिम बंगाल में बृहस्पतिवार को छठे चरण के तहत 43 सीटों पर मतदान हो रहा है।

वही घटना पूर्वी बर्धमान शहर के पूर्वस्थली एक नम्बर दोल गोविंदपुर जीएसपी प्राइमरी स्कूल के 35 नम्बर बूथ की है। बृहस्पतिवार की प्रातः मॉक पोल के चलते तीसरे मतदान अधिकारी सौम्यजीत भट्टाचार्य ने ‘जय श्रीराम’ कहा। इसको लेकर टीएमसी ने आपत्ति व्यक्त की तथा इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की। शिकायत मिलने के पश्चात् चुनाव आयोग ने उस तीसरे मतदान अधिकारी को हटा दिया।

भारतीय जनता पार्टी के मुताबिक, जय श्रीराम कोई भी कहीं पर भी बोल सकता है। उसको लेकर राजनीति करना ठीक नहीं है। बता दें कि विधानसभा चुनाव में जय श्रीराम पर ममता बनर्जी की आपत्ति पर भारतीय जनता पार्टी के आला नेता प्रायः ही तंज करते रहे हैं। दूसरी तरफ, इस घटना के पश्चात् पूर्वस्थली दक्षिण विधानसभा के टीएमसी उम्मीदवार तथा निवर्तमान मंत्री स्वपन देबनाथ ने चुनाव अफसर पर कार्रवाई को उचित करार दिया। उधर, मतदान के चलते आज दिन भर छिटपुट हिंसा की जानकारी आती रही हैं, किन्तु हिंसा की कोई बड़ी घटना नहीं हुई है।

बंगाल चुनाव: बैरकपुर में TMC उम्मीदवार को भाजपा समर्थकों ने घेरा, लगाए 'गो बैक' के नारे

बेलमपल्ली नगर पालिका चुनाव: टीआरएस उम्मीदवार जीता चुनाव

क्या गौतम गंभीर ने की ‘Fabiflu’ की जमाखोरी ? आप नेताओं ने लगाए आरोप