अब भी जारी है डॉक्टरों का देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन, 500 से अधिक डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा

Jun 15 2019 09:35 AM
अब भी जारी है डॉक्टरों का देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन, 500 से अधिक डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा

कोलकाता : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने 14 जून से तीन दिनों तक देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन शुरू करने के साथ 17 जून को देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। आईएमए ने अस्पतालों में डॉक्टरों के खिलाफ होने वाले हिंसा की जांच के लिए कानून बनाने की मांग की है। 

देश में जारी है गर्मी का कहर, अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत

अब इतने डॉक्टरों का इस्तीफा 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार संगठन का कहना है कि इसका उल्लंघन करने वालों को न्यूनतम सात साल जेल की सजा का प्रावधान होना चाहिए। वहीं, बंगाल में अब तक 300 डॉक्टर इस्तीफा दे चुके हैं, जिसमें कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल के 175 डॉक्टरों ने सामूहिक रूप से इस्तीफा दिया है। जूनियर डॉक्टरों के जॉइंट फोरम के प्रवक्ता डॉ.अरिंदम दत्ता ने हड़ताल वापस लेने के लिए सीएम बनर्जी के सामने छह शर्तें रखी हैं।

आज आयोध्या में एक बार फिर होगा संतों का जमावड़ा

इस कारण कर रहे है विरोध 

जानकारी के मुताबिक इससे पहले पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा की घटनाओं के बाद शुरू हुई हड़ताल को शुक्रवार को देशभर से समर्थन मिला। दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, पंजाब, मध्यप्रदेश और बिहार के डॉक्टरों ने विरोध प्रदर्शन किया। दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ने दिनभर के बंद का ऐलान किया।  दरअसल, बंगाल के एनआरएस मेडिकल कॉलेज में 11 जून को जूनियर डॉक्टरों के साथ मारपीट हुई थी। इसके बाद से डॉक्टर विरोध जता रहे हैं। 

गुजरात के तटीय इलाकों पर फिर से मंडराने लगा ‘वायु’ चक्रवात से तबाही का खतरा

झारखडं के सरायकेला में नक्सलियों ने किया पुलिस गश्ती दल पर हमला, पांच जवान शहीद

देश में जारी डॉक्टरों की हड़ताल के चौथे दिन 140 डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा