क्या 'लखीमपुर हिंसा' में गोलियां भी चली थीं ? जांच के लिए लैब में भेजे गए आशीष मिश्रा के हथियार

लखनऊ: लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में 3 अक्टूबर को भड़की हिंसा की छानबीन विशेष जांच दल (SIT) कर रहा है. SIT ने इस मामले में मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा मोनू और अंकित दास को रिमांड पर लेकर उनसे सवाल-जवाब किए. SIT की एक टीम 15 अक्टूबर को भी अंकित दास और लतीफ उर्फ काले को लेकर लखनऊ पहुंची थी.

SIT की टीम जांच के लिए अंकित दास और लतीफ को लेकर लखनऊ के हुसैनगंज स्थित एक अपार्टमेंट के फ्लैट पर पहुंची. अंकित दास के इस फ्लैट से SIT को दो हथियार मिले थे. अब लखीमपुर पुलिस द्वारा केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा मोनू और पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के पुत्र अंकित के हथियार जांच के लिए फॉरेंसिक लैब में भेज दिए गए हैं.

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने आशीष मिश्रा के दो और अंकित दास के दो हथियार फोरेंसिक लैब में जांच के लिए भेजे हैं. ये हथियार बैलिस्टिक रिपोर्ट (ballistic report) के लिए भेजे गए हैं, जो गोलीबारी से संबंधित है. अब सबकी निगाहें इस रिपोर्ट पर टिकी हुई है. क्या 3 अक्टूबर की हिंसा की घटना में गोली भी चली थी या नहीं? ये रिपोर्ट आने पर ही सपष्ट हो सकेगा.

चैनलों और OTT प्लेटफॉर्म को अपने पुराने कंटेंट बेचेगा प्रसार भारती, नोटिफिकेशन जारी

लार्सन टुब्रो ने एलएंडटी एडुटेक के सीईओ के रूप में सब्यसाची दास को किया नियुक्त

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड विश्व स्तरीय प्रशिक्षित बल है: अमित शाह

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -