पनिशमेंट के नाम पर यहां किया जाता है बच्चों को टॉरचर

पनिशमेंट के नाम पर यहां किया जाता है बच्चों को टॉरचर

स्कूल में बच्चों को पनिशमेंट इसलिए दी जाती है ताकि बच्चे अगली बार से वो गलती न करें. कई जगहों पर स्कूल के कायदे कानून इतने कड़े हैं कि उसे टॉर्चर कहना कम नहीं होगा. चीन और कोरिया जैसी जगहों में बच्चों पर पनिशमेंट के नाम पर जो जुर्म किया जाता है, वह किसी क्रूरता से कम नहीं होता. वहीँ कुछ स्कूलों में इतने सख्त कानून और ऐसे अजीब नियम करवाए जाते हैं जो किसी ने सोचे भी नहीं होते.

1. चाइना में बच्चों को पनिशमेंट देने के लिए उन्हें जमे हुए मटर पर नील डाउन करा दिया जाता है.

2. इंग्लैंड में 2 बच्चों को बेस्ट फ्रेंड बनने से रोक दिया जाता है. क्योंकि वहां ऐसा माना जाता है कि अगर बच्चा एक ही इंसान के साथ रहेगा तो बाकि साथियों से बात नहीं कर पाएगा.

3. जापान के स्कूलों में डिसिप्लिन बनाए रखने के लिए बच्चों को अपने बाल कलर नहीं करने दिए जाते.

4. पेंसिल्वेनिया में बच्चों को स्कूल में डिओडरेंट लगा कर आने की अनुमति नहीं है. कई बार बच्चे इतना ज्यादा डिओडरेंट लगा लेते हैं जिससे आस-पास वाले बच्चों को एलेर्जी हो जाती है.

5. शिकागो के हाई स्कूल में बच्चों को क्लास के बीच में टॉयलेट जाने की अनुमति नहीं है. उन्हें सिर्फ एक सेमेस्टर यानि 6 महीने में 3 बार क्लास छोड़ कर टॉयलेट जाने की अनुमति है. हालांकि, बच्चे क्लास खत्म होने के बाद टॉयलेट जा सकते हैं. ऐसा इसलिए किया जाता है ताकि बच्चा क्लास न छोड़े.

कैमरे के सामने न्यूड नज़र आयी हॉलीवुड एक्ट्रेस, फोटोज हो रही वायरल

Video : कभी देखा है Elephant Shower

आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शामिल भारत के 3 खिलाड़ी