इस बग की वजह से खराब हो रहे हैं आईफोन

इस बग की वजह से खराब हो रहे हैं आईफोन

ऐपल का सॉफ्टवेयर बाकी ओएस के मुकाबले बेहतर और ज्यादा सुरक्षित होने के बावजूद बग्स से अछूता नहीं है. कुछ महीने पहले ऐपल आईफोन के फेसटाइम फीचर में एक प्रिवेसी-ब्रीचिंग बग का पता एक गूगल रिसर्चर ने लगाया था. प्रिवेसी से जुड़ी इस खामी के दूर होने के बाद अब iMessage ऐप से जुड़ा एक बग सामने आया है और इस बग की वजह से आईफोन पूरी तरह बेकार हो सकता है. गूगल प्रॉजेक्ट जीरो की रिसर्चर नैतली सिल्वानोविच को इसका पता अप्रैल में चला था, लेकिन इसका खुलासा पिछले सप्ताह किया गया है. आइए जानते है पूरी जानकारी विस्तार से 

Sony : इस नए डिजाइन के स्मार्टफोन पर कर रहा काम

iMessage से जुड़ा यह बग रिसीव हुए टेक्स्ट के एक सेट ऑफ करेक्टर्स को ट्रिगर कर देता है. इसका सीधा असर iOS स्प्रिंगबोर्ड पर पड़ता है, जो यूआई को स्क्रीन पर दिखाई देने से रोक देता है और आईफोन काम करना बंद कर देता है. आसान भाषा में समझें तो एक टेक्स्ट ही आपके आईफोन को पूरी तरह खराब करने के लिए काफी है. ऐसी स्थिति में क्या किया जाए इसपर नैतली कहती हैं, 'यह बग हार्ड रिसेट से दूर नहीं होता और एक बार फोन के अनलॉक होने के बाद उसे खराब कर देता है.'

Airtel का 148 रुपये का नया प्रीपेड प्लान है शानदार, इतना मिलेगा डाटा

ऐसे में अगर आईफोन पर इस बग का असर हुआ है तो फोन को रीस्टोर करना ही इकलौता विकल्प बचता है. इसके लिए अपने आईफोन को रिकवरी में रीबूट करने के बाद रीस्टोर करना होगा. हालांकि, ऐसी स्थिति में आपके फोन में स्टोर सारा डेटा डिलीट हो जाएगा. अगर आपके पास उसका बैकअप नहीं है तो डेटा रीस्टोर करने का ऑप्शन भी नहीं बचेगा. रिसर्चर ने इस बग का खुलासा करने से पहले पूरा वक्त लिया, जिससे ऐपल इसे अपनी ओर से पहले ही फिक्स कर सके. रिपोर्ट्स की मानें तो ऐपल ने मई में iOS 12.3 अपडेट में इसे फिक्स भी कर दिया है.

भारत में मिरर ब्लू कलर वेरिएंट हुआ लॉन्च, इस सेल में होगा उपलब्ध

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि डिवाइस को इस बग से कोई खतरा नहीं हो और यह फिक्स हो चुका हो. वहीं, अगर आपके iOS डिवाइस में पुराना वर्जन अब भी इंस्टॉल है तो इसे फौरन अपडेट करने में ही समझदारी है. इसके लिए आपको डिवाइस की सेटिंग्स में Genral और फिर सॉफ्टवेयर अपडेट में जाना होगा. अगर आपका डिवाइस अपडेट है लेकिन iOS वर्जन 12.3 से पुराना है तो आपको लेटेस्ट अपडेट के लिए ऑटोमैटिक अपडेट सेटिंग्स इनेबल कर लेनी चाहिए.

क्या Samsung Galaxy Note 10 वायरलेस चार्जिंग के साथ होगा लॉन्च ?

भारत में ये स्मार्टफोन्स अगले हफ्ते होंगे लॉन्च

इन लोकप्रिय स्मार्टफोन्स को बारिश में हो सकता है भारी नुकसान