साप्ताहिक समीक्षा : सेंसेक्स, निफ्टी में आई 1.5 फीसदी गिरावट

May 02 2015 10:32 AM
साप्ताहिक समीक्षा : सेंसेक्स, निफ्टी में आई 1.5 फीसदी गिरावट

मुंबई : देश के शेयर बाजारों में पिछले संक्षिप्त कारोबारी सप्ताह में प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में करीब डेढ़ फीसदी गिरावट दर्ज की गई। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सप्ताह 1.55 फीसदी या 426.63 अंकों की गिरावट के साथ शुक्रवार को 27,011.31 पर बंद हुआ। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 1.49 फीसदी या 123.75 अंकों की गिरावट के साथ 8,181.50 पर बंद हुआ।

शुक्रवार एक मई 2015 को महाराष्ट्र दिवस के मौके पर शेयर बाजार बंद रहे। सेंसेक्स के 30 शेयरों में से पिछले सप्ताह सात में तेजी रही, जिसमें प्रमुख रहे एक्सिस बैंक (7.64 फीसदी), आईसीआईसीआई बैंक (7.51 फीसदी), मारुति सुजुकी (5.43 फीसदी), विप्रो (2.95 फीसदी) और सेसा स्टरलाईट (2.41 फीसदी)। सेंसेक्स में 23 शेयरों में गिरावट रही, जिनमें प्रमुख रहे आईटीसी (7.17 फीसदी), एचडीएफसी (6.05 फीसदी), डॉ रेड्डीज लैब (5.10 फीसदी), हिंदुस्तान यूनिलीवर (4.50 फीसदी) और भारती एयरटेल (4.41 फीसदी)।

गत सप्ताह मिडकैप और स्मॉलकैप सूचकांकों में भी गिरावट रही। मिडकैप 0.19 फीसदी या 19.35 अंकों की गिरावट के साथ 10,416.29 पर और स्मॉलकैप 0.59 फीसदी या 64.59 अंकों की गिरावट के साथ 10,944.03 पर बंद हुआ। अमेरिकी केंद्रीय बैंक फेडरल रिजर्व की नीति निर्मात्री समिति फेडरल ओपेन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) ने 29 अप्रैल 2015 को समाप्त हुई अपनी दो दिवसीय बैठक में प्रथम तिमाही के कमजोर सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) आंकड़े के कारण ब्याज दर को शून्य पर बरकरार रखा।

बैंक ने अपने अप्रैल महीने के बयान में ब्याज दर बढ़ाने के अनुमानित समय से संबंधित सभी संदर्भ भी हटा दिए। गुरुवार को लोकसभा में चर्चा के लिए पेश करते हुए वित्त विधेयक 2015-16 में से स्वतंत्र पब्लिक डेट मैनेजमेंट एजेंसी (पीडीएमए) की स्थापना वाले प्रावधान को हटा दिया गया। पीडीएमए का मकसद केंद्र सरकार के सार्वजनिक ऋण, नकद एवं आकस्मिक देनदारियों का अलग से प्रबंधन करना है। अभी सार्वजनिक ऋण प्रबंधन रिजर्व बैंक के जिम्मे है।