उत्तरभारत के जिलों में मौसम की मार, बारिश और ओले से फसलों को नुकसान

Apr 08 2019 09:58 AM
उत्तरभारत के जिलों में मौसम की मार, बारिश और ओले से फसलों को नुकसान

नई दिल्ली : उत्तर भारत के कई जिले यानी वाराणसी, आजमगढ़ और मिर्जापुर मंडल में शनिवार रात से मौसम बिगड़ गया। तेज हवा के साथ बारिश हुई और ओले भी पड़े। टीन शेड और छप्पर उड़ गए। फसलों को नुकसान पहुंचा है। हालांकि रविवार को दोपहर बाद मौसम सामान्य हो गया। वाराणसी, बलिया, आजमगढ़, गाजीपुर, मऊ में तेज हवा के साथ बारिश हुई और ओले पड़े। आजमगढ़ के सगड़ी तहसील क्षेत्र में 50 से 100 ग्राम तक के ओले पड़े। 

स्कूल की बढ़ती फीस पर लगेगी लगाम, आज सुनवाई करेगा दिल्ली उच्च न्यायालय

जारी किया गया अलर्ट 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार कई जगह पेड़ गिरने से रास्ता बाधित हो गया। बारिश से गेहूं, जौ, अरहर, चना, मटर, सरसों की फसलों को नुकसान पहुंचा है। मिर्च, टमाटर, परवल, नेनुआ आदि भी प्रभावित हुए हैं। आम को भी क्षति पहुंची है। उधर, मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में प्रदेश के करीब 32 जिलों में आंधी और ओलावृष्टि की संभावना व्यक्त की है। इन सभी जिलों को अलर्ट कर दिया गया है।

सीएम भूपेश बघेल की सभा से कुछ घंटे पहले, नक्सलियों ने दो स्थानों पर किये आईईडी ब्लास्ट

प्रदेश सरकार ने मांगी रिपोर्ट 

जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार ने शनिवार रात प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में आई आंधी, बेमौसम बारिश व ओलावृष्टि से प्रभावित जिलों के डीएम से फसलों के नुकसान का तत्काल आकलन कर रिपोर्ट उपलब्ध कराने को कहा है। सरकार ने फसल क्षति का 48 घंटे के भीतर कृषकवार आकलन कराकर प्रभावितों को फौरन राहत उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

सेना की सुरक्षा को ताक पर रख बोली महबूबा, कहा- ये हमारा राज्य जहाँ चाहें जाएं..

10 करोड़ लोगों ने देखा इन अनजान कलाकारों का वीडियो, सपना चौधरी का है खास कनेक्शन

खेलते-खेलते टब में जा डूबी दो साल की बच्ची, मौत