देश में जारी है गर्मी का कहर, अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत

Jun 15 2019 09:01 AM
देश में जारी है गर्मी का कहर, अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत

नई दिल्ली : देश में इस बार गर्मियों में कम से कम 35 लोगों की मौत हो गई है। देश के इतिहास में इस बार सबसे अधिक गर्मी पड़ी है। इस बात की जानकारी राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन संस्थान की प्रवक्ता अंशु प्रिया ने दी है। मुख्य रूप से उत्तरी और मध्य भारत में लगातार 30 से भी अधिक दिनों तक लू की स्थिति रही है। राजधानी दिल्ली में 10 जून को पारा 48 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया।

देश में जारी डॉक्टरों की हड़ताल के चौथे दिन 140 डॉक्टरों ने दिया इस्तीफा

इस कारण हो रही है मानसून में देरी 

प्राप्त जानकारी के अनुसार वहीं राजस्थान के चूरू में एक जून को तापमान 50 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया था। देरी से आए मानसून ने भी गर्मी के मौसम में इजाफा किया है। इस बार मानसून सात दिन की देरी से आठ जून को दक्षिणी राज्य में आया। जबकि उत्तरी भारत अभी भी मानसून की बारिश के इंतजार में बैठा है। भारतीय उष्णकटिबंधीय मौसम विज्ञान संस्थान का कहना है कि लू की स्थिति अभी और भी दिनों तक बनी रहेगी। 

तेज रफ्तार कार ने बाइक सवार को मारी टक्कर ,गली में खेल रहे बच्चों को भी लिया चपेट में

इसी के साथ साल 2016 में एनडीएमए ने गर्मी की लहरों के घातक प्रभाव को कम करने के लिए कई पहल शुरू की थीं। जिनमें अत्यधिक गर्म मौसम से बचने के लिए राज्य सरकार के काम के घंटे समायोजित करना, पीने के पानी की सुविधा देना, घरों की छतों को सफेद रंद से रंगना शामिल है।

श्रद्धालुओं से भरी पिकअप खाई में गिरी, कई यात्री घायल

हड़ताल : स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने की ममता बनर्जी से अपील, कहा- वह इसे अपनी प्रतिष्ठा का मुद्दा न बनाएं

चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से राज्य को अब और खतरा नहीं, सीएम विजय रूपाणी ने की घोषणा