क्या कोरोना से लंबी लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रहा भारत ?

लॉकडाउन 4 और कोरोना संक्रमण के बीच भारतीय विज्ञान प्रौद्योगिकी और नवाचार मंत्रालय का बॉयोटेक्नोलाजी विभाग शोध और दैनिक जीवन में विज्ञान के अनुप्रयोगों को बढ़ावा देने वाली नोडल एजेंसी है. देश में व्यापक पैमाने पर बॉयोटेक्नोलाजी के विकास और इस्तेमाल को गति देने वाली यह शीर्ष संस्था है. कोरोना संकट के समय देश के विभिन्न लैब और शोध संस्थाओं में कारगर इलाज की खोज का यह नेतृत्व कर रही है.

इस शहर में तबाही मचा रहा कोरोना, सबसे पहले लग सकता है लॉकडाउन 4

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि संयोग से आज विश्व मातृ दिवस है. मां पालनहार, संरक्षक और सेवा करने वाली होती है. कोरोना के खिलाफ देश की जंग का नेतृत्व करने वाले बॉयोटेक्नोलाजी विभाग में पिछले तीस साल से विभिन्न पदों से होते हुए वर्तमान सचिव रेणू स्वरूप ने देश में बॉयोटेक्नोलाजी को एक नई दिशा दी है. कोरोना के खिलाफ भारत की तैयारियों, उठाए जाने वाले कदमों और भविष्य की चुनौतियों पर अरविंद चतुर्वेदी ने उनका इलेक्ट्रानिक साक्षात्कार किया.

इंडिगो एयरलाइन का बड़ा ऐलान, पूरे वित्त वर्ष में जारी रहेगी वेतन कटौती

अगर आपको नही पता तो बता दे कि हमारा देश इस बीमारी से लड़ने के लिए पूरी तरह से तैयार है. सबसे महत्वपूर्ण है कि हमारे पास विभिन्न प्रकार के नैदानिक परीक्षणों, अस्पतालों तक पहुंच, विशेष वार्ड, आइसीयू, वेंटिलेटर और अन्य चिकित्सा आपूर्ति के माध्यम से निदान करने की क्षमता है. भारत ने आरंभ से ही इस संकट से निपटने के प्रयासों को जुटा लिया और कोविड-19 के लिए तैयारियों और प्रतिक्रिया उपायों के संदर्भ में ठोस प्रयास किए. डीबीटी कोविड के खिलाफ इस लड़ाई में राष्ट्र को मजबूती देने का लगातार काम कर रहा है. हम वैक्सीन (टीके) के विकास, निदान, चिकित्सा और परीक्षण के लिए विशेष रूप से अनुसंधान और विकास के प्रयासों को त्वरित करने के लिए काम कर रहे हैं. हम बीमारी के लिए तत्काल के साथ-साथ दीर्घकालीन समाधान की तैयारी कर रहे हैं.

इस खिलाड़ी की पत्नी का डांस वीडियो हुआ वायरल

पूरी दुनिया में कोरोना से हाहाकार, संक्रमितों की संख्या 40 लाख के पार

हरियाणा : घर वापसी को लेकर सरकार के पास आया भारी भरकम आंकड़ा

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -