'हमें भी चाहिए एक कैबिनेट मंत्री पद', बोले सांसद श्रीरंग बारने

'हमें भी चाहिए एक कैबिनेट मंत्री पद', बोले सांसद श्रीरंग बारने
Share:

मुंबई: नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली NDA सरकार के गठन के पश्चात् कैबिनेट को लेकर खींचतान अभी भी जारी है। रविवार शाम मोदी सहित कुल 72 सांसदों ने मंत्री पद की शपथ ली। शपथ ग्रहण के 24 घंटे भी नहीं गुजरे हैं कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना में कैबिनेट को लेकर नाराजगी सामने आ गई है। शिंदे गुट के नेता श्रीरंग बारने ने कहा कि कम से कम हमें भी एक कैबिनेट मंत्री पद चाहिए।

मोदी सरकार के तीसरे कार्यकाल के कैबिनेट पर सवाल उठाते हुए बारने ने कहा कि 4-5 सीट जीतकर आने वाली पार्टियों को मंत्रिमंडल दिया गया है। महाराष्ट्र में हमने तो 7 सीटें जीती हैं, ऐसे में कम से कम हमें भी एक कैबिनेट तो मिलना ही चाहिए। बारने पुणे की मावल लोकसभा सीट से सांसद हैं। उन्होंने यह भी कहा कि शिवसेना भारतीय जनता पार्टी की सबसे पुरानी सहयोगी रही है, ऐसे में हमें भी कैबिनेट मिलनी चाहिए थी। शिंदे गुट के नेता प्रतापराव जाधव ने राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली है। जाधव शिंदे गुट से इकलौते ऐसे नेता है जिन्हें मंत्री बनाया गया है। जाधव महाराष्ट्र की बुलढाणा लोकसभा सीट से सांसद निर्वाचित हुए हैं। जाधव के लिए यह चौथा अवसर है कि जब वो बुलढाणा की सीट से सांसद चुने गए हैं। जाधव ने अपनी राजनीति की शुरुआत सरपंच से आरम्भ की थी तथा अब उन्हें मंत्री बनाया गया है। शपथ ग्रहण कार्यक्रम अजित पवार गुट की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) ने कैबिनेट मंत्री पद की मांग पर जोर देते हुए राज्य मंत्री का पद ठुकरा दिया। 

सूत्रों के अनुसार, भाजपा हाईकमान की तरफ से NCP नेता प्रफुल्ल पटेल को राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार का ऑफर दिया गया था, किन्तु उन्होंने यह कहते हुए ठुकरा दिया था कि वो पहले कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं ऐसे में राज्य मंत्री का पद उनके लिए सूटेबल नहीं रहेगा। लोकसभा चुनाव में महाराष्ट्र में भाजपा-शिवसेना एवं NCP ने साथ चुनाव लड़ा है। चुनाव में तीनों ही पार्टियों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है। भाजपा को 9 सीटों पर ही जीत हासिल हुई है, जबकि शिंदे गुट की शिवसेना के खाते में 7 सीटें आई हैं। वहीं, अजित पवार की गुट की NCP मात्र एक सीट पर जीत हासिल की है। दूसरी तरफ से कांग्रेस 13 सीट जीती है जबकि उसकी गठबंधन में उसकी सहयोगी रही उद्धव ठाकरे गुट की शिवसेना की झोली में 9 सीटें आई हैं।

'कांग्रेस नेताओं को अपने ही गाँव-कस्बों से वोट नहीं मिले..', कर्नाटक के चुनावी नतीजों पर शिवकुमार की समीक्षा बैठक

पति ने इंस्टाग्राम चलाने से टोका तो फांसी के फंदे पर झूल गई पत्नी

आंध्र में TDP नेता गौरीनाथ चौधरी की चाक़ू घोंपकर हत्या, YSR कांग्रेस के कार्यकर्ताओं पर आरोप

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -