फिल्म देखना आसान पर अभिनय मुश्किल- सुधा मूर्ति

By Pooja Suryawanshi
Dec 04 2017 02:17 PM
फिल्म देखना आसान पर अभिनय मुश्किल- सुधा मूर्ति

इंफोसिस फाउंडेशन की अध्यक्ष और जानी-मानी लेखिका सुधा मूर्ति इन दिनों अपनी आने वाली फिल्म को लेकर जमकर सुर्खिया बटोर रही है. बता दे कि, सुधा मूर्ति ने कन्नड़ फिल्म में एक छोटा सा किरदार निभाने के बाद यह पाया है कि अभिनय आसान काम नहीं है.

हाल ही में हुए एक इंटरव्यू में सुधा मूर्ति ने कहा कि, "मुझे लगता है कि फिल्म देखना बहुत अच्छा लगता है लेकिन उसमें अभिनय करना बहुत मुश्किल है." सुधा मूर्ति का कहना है कि, "मैं फिल्म में अभिनय करने के लिए सहमत हुई, क्योंकि रेड्डी फिल्म में मेरे लिए एक छोटी (दो मिनट की) सी भूमिका डालने को लेकर बहुत ही उत्सुक थे."

उन्होंने कहा कि, "इस भूमिका के लिए मैंने कोई तैयारी नहीं की थी. मुझे बैठकर दोनों पक्षों की बहस को सुनना था और कुछ लाइनें बोलनी थीं" बता दे कि इस फिल्म में शशि देवराज, मालाश्री, शरथ और धनंजय नजर आएंगे. वही कोरियोग्राफर से निर्देशक बनें इमरान सरधरिया ने दो घंटे की अवधि की फिल्म बनाई है. बात करे सुधा मूर्ति के बारे में तो इससे पहले भी वे कन्नड़ फिल्म 'प्रार्थना' में एक जज की भूमिका निभा चुकी हैं. इसके अलावा वे 'डॉलर बहू' और 'हाउ आई टॉट टू माइ ग्रैंडमदर टू रीड' जैसे कई प्रसिद्ध कन्नड़ उपन्यास लिख चुकी हैं.

ये भी पढ़े

जिंदगी के सबसे बेहतरीन दौर में हूं- अदनान सामी

स्टार वार्स : द लास्ट जेडी' में नजर आएंगे बेनिसियो डेल टोरो

भारती सिंह की शादी का लाइव वीडियो हुआ वायरल..

 

बॉलीवुड और हॉलीवुड से जुडी चटपटी और मज़ेदार खबरे, फ़िल्मी स्टार की जिन्दगी से जुडी बातें, आपकी पसंदीदा सेलेब्रिटी की फ़ोटो, विडियो और खबरे पढ़े न्यूज़ ट्रैक पर