सामने आया 'कोरोना' का सबसे बड़ा तोड़, वैज्ञानीक भी रह गए हैरान

Mar 25 2020 03:52 PM
सामने आया 'कोरोना' का सबसे बड़ा तोड़, वैज्ञानीक भी रह गए हैरान

नई दिल्ली: कोरोना वायरस महामारी से जंग के लिए जब पूरी दुनिया टीके और दवा की आस लगाए बैठी है. उस समय बचाव का एक तरीका सबसे अधिक लोकप्रिय होने लगा है. पूरी दुनिया के डॉक्टर और वैज्ञानिक मानने लगे हैं कि कोरोना वायरस संक्रमण से निबटने के लिए गर्म पानी और साबुन से असरदार और कुछ नहीं है. वैज्ञानिकों का कहना है कि वायरस को ख़त्म करने में गर्म पानी और साबुन की जुगलबंदी सबसे कारगर है.

राममनोहर लोहिया अस्पताल के मेडिसीन विभाग के पूर्व प्रमुख डॉ. मोहसिन वली का कहना है कि कोरोना वायरस 30 डिग्री से ज्यादा तामपान में ख़त्म हो जाता है. यही वजह है कि अब दुनियाभर के वैज्ञानिक और डॉक्टर इस वायरस से अपने आपको संक्रमण से बचाने के लिए गर्म पानी और साबुन का उपयोग कर रहे हैं. इस कॉम्बिनेशन का उपयोग अपने शरीर से वायरस को दूर करने के लिए भी किया जा सकता है.

अमेरिका के पिट्सबर्ग अस्पताल में शिशु संक्रमण विभाग के प्रमुख डॉ. जॉन विलियम्स ने जानकारी देते हुए बताया है कि गर्म पानी में साबुन अधिक झाग बनाता है. इससे किसी भी तरह का वायरस गर्म पानी में घुलकर बाहर निकल जाता है या फिर नष्ट हो जाता है. अधिकतर वैज्ञानिक इन दिनों ठंडे पानी की जगह गर्म पानी से ही हाथ धोने को प्राथमिकता दे रहे हैं.

सऊदी अरब में कोरोना से पहली मौत, 300 से अधिक संक्रमित

कोरोना: पाक के 7 मौतों में मचा हाहाकार, संक्रमित लोगों की संख्या एक हज़ार

नीचता पर उतरा पाक, साजिश के तहत PoK में शिफ्ट किए 200 'कोरोना' मरीज