CM कमलनाथ के साथ दिखा व्यापम घोटाले का मास्टरमाइंड, इस कार्यक्रम में घटा मामला

CM कमलनाथ के साथ दिखा व्यापम घोटाले का मास्टरमाइंड, इस कार्यक्रम में घटा मामला

शनिवार को मध्य प्रदेश के बहुचर्चित व्यापम घोटाले का मुख्य आरोपी एक स्कूली कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ के साथ बैठा नजर आया. इसके बाद से यह मुद्दा एक बार फिर चर्चा में आ गया है. बता दें कि बीजेपी की शिवराज सिंह चौहान सरकार में सबसे अधिक चर्चा व्यापम घोटाले की ही रही.दरअसल, डेली कॉलेज स्कूल के पुरस्कार वितरण समारोह में सीएम कमलनाथ शिरकत करने पहुंचे थे. यहां कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी भी मौजूद थे. इसी दौरान व्यापम आरोपी जगदीश सरकार को भी काले चश्मे में देखा गया.

रणदीप सुरजेवाला का पीएम मोदी पर प्रहार, कहा - "कानून-व्यवस्था चरमरा गई है लेकिन प्रधानमंत्री मौन हैं"

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जगदीश शुरू में मीडिया के कैमरों से बचते दिखा और बाद में वह वहां से निकल गया.व्यापम घोटाले में सागर को मास्टमाइंड माना गया था और बाद में उसे गिरफ्तार भी किया गया था. बता दें कि बीजेपी के कार्यकाल के दौरान इस मुद्दे को कांग्रेस ने खूब उछाला था. विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाते हुए बीजेपी की सरकार पर तीखा हमला बोला था. ऐसे में अब इसी घोटाले के मुख्य आरोपी का सीएम कमलनाथ के साथ कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद एक बार फिर सियासी घमासान मचना तय है.

राहुल गाँधी जल्द संभालें कांग्रेस की कमान, लोग महसूस कर रहे उनकी कमी- भूपेश बघेल

मध्य प्रदेश में वर्ष 2000-12 के बीच पूरे लगभग 55 मामले दायर किए गए, जिनमें परीक्षा देने वाले की जगह किसी और ने परीक्षा दी. 7 जुलाई, 2013 को पहली बार घोटाले का मामला औपचारिक तौर पर सामने आया. इंदौर की क्राइम ब्रांच ने 20 ऐसे लोगों के खिलाफ मामला दायर किया. इन मामलों में परीक्षा देने वाले छात्र की जगह किसी और ने परीक्षा दी. 16 जुलाई, 2013 को घोटाले का मास्टरमाइंड माना जाने वाला जगदीश सागर पुलिस की गिरफ्त में आया.

असम NRC: इस कांग्रेस नेता ने तमिलनाडु के हिन्दुओं को लेकर दिया बड़ा बयान

मायावती का ऐलान, कहा- NRC मुद्दे पर अपने पुराने स्टैंड पर ही कायम रहेगी बसपा

हैदराबाद एनकाउंटर मामला: तेलंगाना के मंत्री बोले- सीएम को जाता है इसका क्रेडिट