अमलापुरम लोकसभा सीट पर मतदान शुरू, कांग्रेस और तेदेपा में कड़ी टक्कर

अमलापुरम लोकसभा सीट पर मतदान शुरू, कांग्रेस और तेदेपा में कड़ी टक्कर

विशाखापट्टनम: आंध्र प्रदेश की VIP लोकसभा सीट अमलापुरम पर मतदान शुरू हो चुका है. आज आंध्र प्रदेश की तमाम 25 लोकसभा और 175 विधानसभा सीटों के लिए एक साथ वोट डाले जा रहे हैं. आंध्र में तेदेपा अध्यक्ष और सीएम चंद्रबाबू नायडू, YSR कांग्रेस प्रमुख वाई एस जगनमोहन रेड्डी के साथ ही अभिनेता से नेता बने पवन कल्याण की जन सेना दौड़ में हैं. भारतीय जानत पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस भी इस प्रदेश में जोर लगा रही है. इस सीट पर तेदेपा की तरफ से पूर्व लोकसभा स्पीकर जीएमसी बालयोगी के बेटे हरीश मधुर उम्मीदवार हैं. तेदेपा टक्कर जनसेना के प्रत्याशी डीएमआर शेखर और कांग्रेस प्रत्याशी जंगा गौतम से है. यहां से भाजपा के वेमा मानेपल्ली भी सियासी समर में हैं. वाईएसआर कांग्रेस के चिंता अनुराधा प्रत्याशी हैं. इस सीट से जन जागृति पार्टी की चेल्लै रजनी भी चुनाव रण में हैं.

फिरोजाबाद में शाह ने की जनसभा, सपा-बसपा गठबंधन पर साधा निशाना

2014 के लोकसभा चुनाव में अमलापुरम सीट पर तेदेपा उम्मीदवार पी. रवींद्र बाबू ने भारी मतों के अंतर से वाईएसआर कांग्रेस के प्रत्याशी को शिकस्त दी थी. अमलापुरम लोकसभा सीट का इतिहास भी काफी दिलचस्प है. इस सीट पर शुरुआती दो लोकसभा चुनावों (1952 और 1957 लोकसभा चुनाव) में जीत दर्ज करने वाली कम्यूनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (CPI) को वर्तमान में अपने वजूद की लड़ाई लड़ना पड़ रही है. वहीं, 1982 से पहले निरंतर 5 बार आम चुनाव जीतने वाली कांग्रेस को तेदेपा के आने से बड़ा झटका लगा और उसके मतों में काफी गिरावट दर्ज की गई है.

छापेमार कार्यवाही पर सवाल उठाने को लेकर जेटली ने दिया कांग्रेस को ऐसा जवाब

तेदेपा का गठन 1982 में हुआ और इसके बाद हुए 9 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस को 4 बार ही सफलता मिल सकी. वहीं, तेदेपा ने 5 बार जीत का परचम लहराया. इस सीट पर 1984 में तेदेपा, 1989 में कांग्रेस, 1991 में तेदेपा, 1996 में कांग्रेस, 1998 और 1999 में तेदेपा, 2004 और 2009 में कांग्रेस ने जीत हासिल की. वहीं, 2014 में मोदी लहर के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ने वाली तेदेपा ने इस सीट से जीत दर्ज की.

खबरें और भी:-

 

रोड शो के बाद राहुल ने दाखिल किया नामांकन, मौजूद रहा पूरा गांधी-वाड्रा परिवार

सीएम योगी ने किया राहुल पर वार, बोले- कांग्रेस का घोषणा पत्र आतंकवादियों से हाथ मिलाने वाला

मोदी को वोट मतलब पाकिस्तान को वोट, पहले नवाज़ से प्यार फिर इमरान चहेता यार : कांग्रेस