विवेक तिवारी हत्याकांड में हुए जांच के आदेशजारी

उत्तर प्रदेश में हाल में हुए चर्चित वि​वेक तिवारी हत्याकांड में अब मामले की जांच के आदेश जारी हो गए हैं और साथ ही आईजी सुजीत पांडे के नेतृत्व में एक टीम का गठन भी किया गया है जो इस पूरे मामले की जांच करेगी। यहां बता दें कि विवेक तिवारी एपल कंपनी में सेल्स मैनेजर के पद कार्य करते थे और एक लांचिंग कार्यक्रम में हिस्से लेकर घर जा रहे थे तभी रास्ते में उनकी मृत्यु हो गई। 

विवेक तिवारी हत्‍याकांड : कृषि मंत्री बोले - गोली उसे ही लगी है जो अपराधी है

वहीं मृतक वि​वेक की पत्नि ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री से इसके लिए 1 करोड़ रूपए का मुआवजा और पुलिस विभाग में नौकरी देने के लिए एक पत्र भी लिखा है। वहीं इस मामले की जांच टीम ने शनिवार को घटनास्थल का मुआयना कर घटना का नाट्य रूपांतरण किया है ताकि घटना को सही रूप से जाना जा सके। जानकारी के अनुसार विवेक की मौत गोली लगने से हुई है और वहीं पुलिस द्वारा इसे एक एक्सीडेंट का नाम दिया जा रहा है। 

वि​वेक तिवारी हत्याकांड: पत्नि ने मांगा 1 करोड़ का मुआवजा और पुलिस में नौकरी

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश में क्राइम सबसे ज्यादा हो रहे हैं और हाल में हुए इस हत्याकांड से उत्तरप्रदेश सरकार पर भी सवालिया निशान उठने लगे हैं। वहीं आईजी सुजीत ने बताया है कि टीम द्वारा घटना स्थल की जांच की जा रही है और सभी एंगिलों से मुआयना भी किया जा रहा है। वहीं मामले में जो टीम का गठन किया गया है उसमें बैलिस्टिक विशेषज्ञ भी शामिल हैं जो कि जांच करने पर पाएंगे कि गोली कहां और किस एंगल से चलाई गई है। फिलहाल तो पुलिस विभाग सवाल के घेरों में फंसता नजर आ रहा है, क्यूंकि आरोप लगे हैं कि विवेक तिवारी को लगी गोली पुलिसकर्मी ने चलाई थी। 

 खबरें और भी

विवेक तिवारी हत्या मामला: केजरीवाल का आरोप, हिंदुओं के हितों की रक्षा नहीं करती बीजेपी

विवेक तिवारी हत्याकांड : राज बब्बर बोले सीएम योगी इस्तीफा दें

विवेक तिवारी हत्‍याकांड : पत्नी को नौकरी के साथ 25 लाख देगी योगी सरकार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -