मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए विवाह पंचमी पर करें ये उपाय

आपको बता दें कि मार्गशीर्ष माह में शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को विवाह पंचमी का पर्व मनाया जाता है। ऐसे में इस साल विवाह पंचमी का पर्व 28 नवंबर 2022 को है। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन अयोध्या नरेश भगवान श्री राम और जनक दुलारी माता सीता का विवाह हुआ था। आपको बता दें कि विवाह पंचमी भगवान श्री राम और माता सीता के विवाह की वर्षगांठ के रूप में मनाया जाता है, हालाँकि ये दिन शादी-विवाह जैसे मांगलिक कार्यों के लिए शुभ नहीं माना जाता है, क्योंकि भगवान राम के साथ विवाह के बाद सीता जी को अपने जीवन में कई दुखों का सामना करना पड़ा था। हालाँकि शास्त्रों में बताया गया है कि इस दिन भले ही शादी-विवाह नहीं की जाती है, लेकिन विवाह पंचमी पर कुछ खास उपाय करने से वैवाहिक जीवन में मधुरता आती है। आज हम आपको उन्ही के बारे में बताने जा रहे हैं।


मनचाहा जीवनसाथी पाने के लिए- अगर प्रेम विवाह में कोई बाधा आ रही हो तो विवाह पचंमी के दिन सुहाग की समाग्री माता सीता के चरणों में अर्पित करें और मनचाहा जीवनसाथी पाने की प्रार्थना करें। उसके बाद अगले दिन ये सामग्री किसी सुहागिन महिला को दान कर दें।

कपूर से लेकर लहसुन तक से घर में नहीं आएँगे मच्छर, जानिए कैसे करना है इस्तेमाल

शीघ्र विवाह के लिए उपाय- विवाह पचंमी के दिन नीचे दिए मंत्र का जाप करें।
पानिग्रहन जब कीन्ह महेसा। हियं हरषे तब सकल सुरेसा॥
बेदमन्त्र मुनिबर उच्चरहीं। जय जय जय संकर सुर करहीं॥

सफल दांपत्य जीवन के लिए उपाय- अगर पत्नी-पत्नी के बीच आए दिन बिना बात के झगड़ा होता है, तो विवाह पंचमी के दिन पत्नी-पत्नी साथ मिलकर रामचरितमान में वर्णित राम-सीता प्रसंग का पाठ करें। ऐसा माना जाता है कि इससे शादीशुदा जीवन में मिठास घुल जाती है।

विवाह में आ रही रुकावट को दूर करने के लिए- अगर शादी योग्य युवक या युवती के विवाह में समस्या आ रही हो या फिर रिश्ता पक्का करने के बाद टूट रहा है तो विवाह पंचमी के दिन विधि विधान से राम-सीता के विवाह कराएं।

समुद्र मंथन से निकलीं ये 5 चीजें घर में रखने से हो जाएंगे अमीर

आपकी किस्मत चमका सकते है सूखी तुलसी के पत्ते!

आज एकदशी पर ये टोटके चमका देंगे आपकी किस्मत

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -