'1000 से अधिक तस्वीरें, 12 पन्नों में सबूत..', कोर्ट में जमा हुई 'ज्ञानवापी सर्वे' की दूसरी रिपोर्ट

वाराणसी: पुण्यनगरी वाराणसी स्थित विवादित ज्ञानवापी मस्जिद मामले में अदालत के स्पेशल कमिश्नर विशाल सिंह अपनी सर्वे रिपोर्ट आज जमा कर दी है. 12 पन्नों की यह रिपोर्ट 14 से 16 मई के बीच हुए सर्वे पर तैयार की गई है. सिविल जज सीनियर डिविजन रवि कुमार दिवाकर की कोर्ट में रिपोर्ट जमा करने से पहले कोर्ट कमिश्नर विशाल सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा था कि हमने बहुत मेहनत करके रिपोर्ट तैयार की है.

वहीं, मीडिया से बातचीत के दौरान सहायक एडवोकेट कमिश्नर अजय प्रताप सिंह ने बताया कि आज अदालत में रिपोर्ट पेश कर दी गई है. उन्होंने बताया कि कुल 12 पेज की रिपोर्ट है, अजय प्रताप सिंह ने बताया कि रिपोर्ट तैयार करने में उन्होंने और विशाल सिंह ने बहुत मेहनत की है. हालांकि रिपोर्ट में क्या है? इस सवाल का जवाब विशाल सिंह और अजय प्रताप सिंह, दोनों ने नहीं दिया. रिपोर्ट सौंपने से कुछ देर पहले सहायक एडवोकेट कमिश्नर अजय प्रताप सिंह ने कहा था कि हमने पूरी रात जागकर रिपोर्ट बनाई है. उन्होंने बताया कि रिपोर्ट तैयार करते समय हर पहलु का ख्याल रखा गया है. लगभग 1000 से ऊपर तस्वीरें हैं, कई घंटे की वीडियो फुटेज हैं. अजय प्रताप सिंह ने कहा कि अजय मिश्र द्वारा जो रिपोर्ट दाखिल की गई है, उसके बिन्दुओं को भी शामिल किया जायेगा.

अजय प्रताप सिंह ने पूर्व कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्र को हटाए जाने पर भी दुख प्रकट करते हुए कहा कि उनकी कमी महसूस हो रही है. अजय प्रताप सिंह ने कहा कि हमने रिपोर्ट दे दी है, इसके बाद कोर्ट इसको देखेगी और फिर जो भी आदेश करेगी, हम उसका पालन करेंगे. हालांकि उन्होंने रिपोर्ट पर कुछ भी कमेंट करने से साफ़ इनकार कर दिया.

श्रीकृष्ण जन्मभूमि के मालिकाना हक़ पर फैसला आज, मस्जिद के नीचे स्थित है कारागार, जहाँ हुआ था कान्हा का जन्म !

विदेशी लेखकों ने अपनी 17 पुस्तकों में किया है 'भोले की काशी' का गुणगान, आदि विश्वेश्वर के वैभव का भी जिक्र

मंदिर का मलबा, देवी-देवताओं की आकृति और भी बहुत कुछ.., अजय मिश्रा ने जमा की 'ज्ञानवापी सर्वे' की रिपोर्ट

 

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -