Virtual credit card: बैंक दे रहे है धोखाधड़ी से बचाने के लिए सुविधा, जानिये क्या है ख़ास

ऑनलाइन बैंकिंग और ई-कामर्स की बढ़ती दुनिया में अपने खाताधारकों को बेहतर सुविधा और वैश्विक स्तर की सुरक्षा देना बैंकों के सामने बड़ी चुनौती मिल रही है। इसके अलावा खासकर क्रेडिट कार्ड और एटीएम कार्ड संबंधी धोखाधड़ी के मामलों को देखते हुए यह अनिवार्य जरूरत बन गया है। बीते वित्त वर्ष में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के बाद इस तरह की सर्वाधिक शिकायतें एचडीएफसी (HDFC) बैंक को मिली थी। इसके अलावा इससे सबक सीखते हुए एचडीएफसी बैंक ने अपने उपभोक्ता को धोखाधड़ी से बचाने के लिए वैश्विक स्तर का बेहद सुरक्षित सॉफ्टवेयर उपयोग किया है।

बीते पखवाड़े में बैंक ने करीब 11 घंटे तक कार्ड पेमेंट संबंधी नेट बैंकिंग सेवा बंद कर इस सॉफ्टवेयर को अपलोड किया है। इसके साथ एचडीएफसी भारत का पहला ऐसा बैंक हो गया है, जो किसी भी ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म पर खरीदारी के लिए तुरंत वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बना देगा। एचडीएफसी बैंक ने अपने खाताधारकों को संदेश भेजकर क्रेडिट कार्ड संबंधी नेट बैंकिंग सेवा बाधित होने की सूचना दी थी।उस दौरान बैंक ने अपनी सभी शाखाओं को विजन प्लस विजन-10 सॉफ्टवेयर से लैस कर दिया। इसके साथ ही बैंक का दावा है कि यह वैश्विक सॉफ्टवेयर है और विश्व में चुनिंदा बैंक ही इसका उपयोग कर रहे हैं। बैंक के कॉरपोरेट कम्यूनिकेशन प्रमुख नीरज झा के अनुसार इस सॉफ्टवेयर से थर्ड पार्टी इंटरफेस यानी किसी भी कंपनी के साथ ग्राहक संबंधी साझा की जाने वाली सूचनाएं बेहद सुरक्षित रहेंगी।

उपभोक्ता की सिर्फ बैंकिंग सेवा से संबंधित सूचनाएं ही साझा हो सकती है । इससे ई-बैंकिंग संबंधी सभी सुविधाएं सुरक्षित और तेज होंगी। उपभोक्ता इस सुविधा के जरिये किसी भी शॉपिंग वेबसाइट पर वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बनाकर खरीदारी कर सकेंगे।इसकी एक दूसरी सुविधा यह होगी कि खाताधारक की क्रेडिट कार्ड संबंधी शिकायतें एक दिन में निस्तारित हो सकती है । इसके साथ ही बैंक का दावा है कि विश्व में कहीं से भी शिकायत कर सकते है , निस्तारण एक दिन में ही होगा। ग्राहक खाते की लिमिट खुद ही घटा-बढ़ा सकेंगे। इसके साथ ही इस समय एचडीएफसी बैंक, आइसीआइसीआइ (ICICI) बैंक और एक्सिस (AXIS) बैंक खाते और क्रेडिट कार्ड के संयुक्त प्रोसेसिंग से वर्चुअल कार्ड की सुविधा दे रहे हैं। इसके साथ ही ऐसा पहली बार होगा, जब खाताधारक किसी भी शॉपिंग वेबसाइट पर वर्चुअल क्रेडिट कार्ड बना सकेगा। इसी नंबर पर चार कारोबारी दिनों बाद स्थायी क्रेडिट कार्ड जारी हो जाएगा।

रतन टाटा ने की पीएम मोदी और अमित शाह की तारीफ, सरकार के फैसलों को बताया दूरदर्शी

जैमर लगा कर केबल ऑपरेटर्स सिग्नल कर रहे जाम, DTH वालो को उठानी पड़ रही परेशानी

Vodafone Idea कुछ दिनों में AGR का भुगतान कर संभाल लेगी कारोबार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -