दोपहर की भस्मारती पर वीआईपी का कब्जा...! सामान्य को कर रहे दरकिनार!

उज्जैन। महाकाल के मंदिर में एक बार फिर वीआईपी श्रद्धालु, सामान्य दर्शनार्थियों पर भारी पड़ने वाले है। यह होगा महाशिवरात्रि के दूसरे दिन होने वाली दोपहर की भस्मारती के दौरान। क्यांेकि इस अवसर पर न केवल सामान्य दर्शनार्थियोें द्वारा भस्मारती दर्शन की जुगत की जा रही है वहीं वीआईपी लोगों की भी बुकिंग होने की जानकारी सामने आई है।

बाबा महाकाल के मंदिर में साल में एक ही बार ऐसा अवसर आता है जब दोपहर में भस्मारती होती है और इस दौरान न केवल हर कोई बाबा महाकाल की भस्मारती का आनंद उठाना चाहता है वहीं वीआईपी की भी भीड़ अधिक रहती है। हालांकि मंदिर प्रशासन के साथ ही जिला प्रशासन के अधिकारियों द्वारा हर वर्ष ही इस बात का दावा किया जाता है कि दोपहर की भस्मारती में वीआईपी का जमावड़ा कम होने दिया जायेगा, बावजूद इसके वीआईपी दर्शनार्थियों की बुकिंग पहले से ही हो जाती है कि सामान्य दर्शनार्थियों को बमुश्किल ही दर्शन का मौका मिल पाता है।

सूत्रों ने बताया कि वीआईपी दर्शनार्थियों की बुकिंग न केवल होने लगी है वहीं बुकिंग के लिये मंदिर प्रशासन पर दबाब भी बनाया जा रहा है। गौरतलब है कि महाशिवरात्रि का त्योहार 24 फरवरी को मनाया जायेगा और दोपहर की भस्मारती महाशिवरात्रि के दूसरे दिन 25 फरवरी को संपन्न की जायेगी। इधर मंदिर में महाशिवरात्रि मनाने की तैयारियांे को जोर-शोर से अंजाम दिया जा रहा है तो वहीं नगर के अन्य प्रमुख शिव मंदिरों में भी महाशिवरात्रि का त्योहार उत्साह व उमंग के साथ मनाया जायेगा।

वीआईपी श्रद्धालुओं के कारण वैसे ही मंदिर में व्यवस्था बिगडने के मामले पहले भी सामने आते रहे है और इसके बाद मंदिर प्रशासन की तरफ से यही कहा जाता है कि सामान्य दर्शनार्थियों को तव्वजो दी जायेगी, बावजूद इसके वीआईपी दर्शनार्थियों के दबाब के आगे मंदिर प्रशासन को हर बार झुकना पड़ता है। यह चाहे प्रशासन के अधिकारियों की मजबूरी कहे या फिर कुछ ओर, लेकिन स्थिति तो सामान्य दर्शनार्थियों को ही भुगतना पड़ता है।

राशि के अनुसार करें शिवरात्रि पर भोलेनाथ की पूजन

बैठक में बजट प्रारूप को हरी झंडी

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -