शनिवार को भी दिखा घाटी में बंद का असर, हुई जमकर हिंसा

श्रीनगर : जाकिर मूसा के मारे जाने के विरोध में शनिवार को भी घाटी में बंद रहा, लगातार दूसरे दिन हिंसा हुई। श्रीनगर के डाउनटाउन के रैनावारी, छानपोरा व नटिपोरा, पुलवामा, सोपोर व अनंतनाग में हिंसक प्रदर्शन हुए। सुरक्षाबलों पर युवाओं ने भारी पथराव किया। स्थिति को काबू में करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे गए। पैलेट गन का इस्तेमाल किया गया। 

सोच समझकर करें डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ ट्वीट, बैन हो सकता है आपका अकाउंट

बंद का दिखा व्यापक असर 

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार हिंसक झड़पों में एक दर्जन से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। बंद को देखते हुए कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे। संवेदनशील इलाकों में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई थी। बंद का आह्वान हुर्रियत (जी) प्रमुख सैय्यद अली शाह गिलानी की ओर से किया गया था। हिंसा की आशंका में श्रीनगर के कई इलाकों में पाबंदियां थीं, जबकि पुलवामा, शोपियां व कुलगाम में दूसरे दिन भी कर्फ्यू रहा। शिक्षण संस्थान बंद रहे। 

जाकिर मूसा के बाद अब इस आतंकी को तलाश रही सेना, घाटी के लोगों को दी थी धमकी

बंद रहे व्यापारिक प्रतिष्ठान 

इसी के साथ घाटी में रेल सेवा स्थगित रही। देर शाम घाटी के श्रीनगर, बारामुला, बडगाम व गांदरबल में 2जी सेवा बहाल कर दी गई। बंद के मद्देनजर दुकानें, पेट्रोल पंप तथा अन्य कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे। सड़कों से यातायात गायब रहा। कुछ स्थानों पर निजी कार तथा आटो रिक्शा चलते मिले। बता दें इससे पहले भी प्रशासन की ओर से एहतियातन स्कूल-कालेज को बंद रखने की घोषणा की गई थी।

चारधाम यात्रा के लिए लगातार बढ़ रही है विदेशी यात्रियों की संख्या

गंग नहर में जा गिरी अनियंत्रित कार, पांच की मौत

निर्माणाधीन मकान में लगी आग, जिंदा जली महिला

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -