पाकिस्तान में हिन्दू, सिख पर अत्याचार जारी

Apr 17 2018 10:50 AM
पाकिस्तान में हिन्दू, सिख पर अत्याचार जारी

पाकिस्तान: पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में हिन्दू, ईसाई, सिख, अहमदिया और हजारा जैसे मजहबी अल्पसंख्यकों पर हिंसक हमले जारी हैं. एक स्वतंत्र निगरानी समूह की रिपोर्ट में उन पर जुल्म के मुद्दे से निटपने में विफल रहने पर सरकार की आलोचना भी की गई है. मानवाधिकार आयोग ने अपनी रिपोर्ट ‘स्टेट ऑफ ह्यूमन राइट्स इन 2017’ की वार्षिक रिपोर्ट को जारी करने के मौके पर कहा कि पाकिस्तान में लोगों का गायब होना जारी है. 

इस आयोग ने अपनी रिपोर्ट को दिवंगत कार्यकर्ता असमा जहांगीर को समर्पित किया है. वह मानवाधिकारों की बड़ी हिमायती थीं. उनका फरवरी में इंतकाल हो गया था. आयोग ने लापता होने और न्यायेत्तर हत्याओं के बढ़ते मामलों तथा सैन्य अदालतों के अधिकार क्षेत्र में विस्तार को भी रेखांकित किया है. मानवाधिकार आयोग ने कहा, ‘निंदा के झूठे आरोप और हिंसा करना, कई बच्चों के खतरनाक हालत में श्रम में शामिल होना, महिलाओं के खिलाफ हिंसा का जारी रहना पिछले साल की चिंताजनक घटनाएं रहीं.’ 

आयोग ने आगे  कहा, ‘आतंकवाद से संबंधित मौतें भले ही कम हुई हों, लेकिन धार्मिक अल्पसंख्यक और कानून प्रवर्तक एजेंसियों के आसान लक्ष्य हिंसा का दंश झेल रहे हैं.’ आयोग ने कहा कि पत्रकारों और ब्लॉगरों को लगातार धमकियां मिल रही हैं, उन पर हमले हो रहे हैं और उनका अपहरण हो रहा है लेकिन निंदा कानून ने लोगों को चुप रहने पर मजबूर कर दिया है. लोगों के सामाजिक सांस्कृतिक गतिविधियों को असहनशीलता और चरमपंथ ने सीमित कर दिया है.

इस नई ख़ोज के कारण तनाव से मिलेगी मुक्ति

कब्र से कहां गायब हुआ सद्दाम हुसैन का शव

अमेरिका की सीरिया पर दागी गई टॉम हॉक मिसाइल की खूबियां


 

?