देश के लुटेरे बने देश के दामाद !

Aug 31 2018 12:48 PM
देश के लुटेरे बने देश के दामाद !

मुंबई। भारत एक ऐसा देश है जहा मेहमान को भी भगवान माना जाता है। इस देश के लोग मेहमनों की खातिरदारी के मामले में कोई कसर नहीं छोड़ते। भारत में  विदेशो से आने वाली हस्तियों का सिर्फ आम जनता ही नहीं बल्कि बड़े-बड़े नेता भी जोर शोर से स्वागत करते है। लेकिन अब लगता है हमारा देश  मेहमनों की खातिरदारी के मामले में कुछ ज्यादा ही आगे बढ़ गया है क्योकि अब यहाँ पर विजय माल्या जैसे भगोड़े आरोपियों की खातिरदारी भी किसी VIP मेहमान की तरह ही की जाएगी। 

दरसअल विजय माल्या को जल्द ही भारत में प्रत्यर्पित करके मुंबई की आर्थर रोड जेल में रखा जायेगा। लेकिन माल्या के आने के पहले से ही इस जेल की शक्लोसूरत बदलने का काम शुरू हो गया है। तो आइये हम आपको बताते है कैसे बदल रही है इस जेल की रंगत। 

'केरल स्टेट फिल्म अवार्ड्स' में मोहनलाल ने की अपने स्टाइल में एंट्री


दीवारों की पुताई से लेकर फर्श की टाइल्स तक, सब कुछ VIP 

भगोड़े आरोपी विजय माल्या को जिस जेल में रखा जायेगा उसकी पूरी रूप -रंगत बदली जा रही है। इस बैरक की फर्श की टाइल्स से लेकर दीवारों के रंग तक सब कुछ बदला जा रहा है। यह तक की माल्या के लिए बाथरूम भी नए सिरे से तैयार किया जा रहा है। 


प्रत्यर्पण के लिए नए सेल का निर्माण 


विजय माल्या के रहने के लिए  मुंबई की आर्थर रोड जेल में एक नए सेल का निर्माण कराया जा रहा है। इसका निर्माण पीडब्लूडी का ठेका लेने वाली प्रमेश कंस्ट्रक्शन्स ने किया है। ठेकेदार शिवकुमार पाटिल ने एक निजी अखबार को दिए अपने इंटरव्यू में बताया कि उसे इस मामले में ज्यादा जानकारी नहीं बताने के निर्देश दिए गए हैं। 


रास्तों का भी कायाकल्प 


हलाकि पाटिल ने यह जरूर बताया कि उसके कर्मचारियों ने सेल की पुताई के साथ ही बैरक नंबर 12 की ओर जाने वाले रास्ते को भी पक्का किया है। इसके साथ ही उन्होंने फर्श और टॉइलट को बिल्कुल नया रूप दे दिया है। 

माल्या प्रत्यर्पण केस: भारत ने ब्रिटेन को सौंपा जेल का वीडियो


टॉयलेट सीट और जेट स्प्रे भी बदले 


पीडब्लूडी के एक ने अधिकारी मिडिया को बताया कि 10 अगस्त को जब सीबीआई के कुछ अधिकारी बैरेक का विडियो शूट करने के लिए आये थे लेकिन उन्हें काम पसंद नहीं आया था।  इसके बाद सेल का नवनिर्माण किया गया है। सूत्रों के मुताबिक जेल की बाथरूम में फिटिंग तक बदली गई है। इसमें नयी टॉयलेट सीट और जेट स्प्रे लगाया गया है। इस काम को तक़रीबन 45 कर्मचारियों ने पूरा किया है। 


क्या है इस बदलाव की वजह ?


दरअसल भगोड़े आरोपी विजय माल्या ने  लंदन की एक कोर्ट में भारत द्वारा अपने प्रत्यर्पण का विरोध करते हुए दलील दी थी कि भारत की जेलों की हालत बहुत ख़राब है और वहां रौशनी तक की व्यवस्था नहीं होती। इसके बाद ब्रिटैन की कोर्ट ने सीबीआई  को आदेश दिए थे कि वो जिस जेल में माल्या को रखना चाहते है उसका एक वीडियो शूट कर के कोर्ट के सामने  पेश करे। कोर्ट के इस आदेश के बाद से ही जेल में नवनिर्माण का काम किया जा रहा है। 

ख़बरें और भी 

विजय माल्या की अब खैर नहीं, होगी अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई

केरल बाढ़: मुख्यमंत्री ने किया दुनिया भर के मलयालियों का आह्वान, कहा एक महीने का वेतन पीड़ितों के लिए दें

कटाक्ष: हम तो चले परदेश....

?