विजय दिवस पर सेना के गौरव को किया जाता है याद, कई विशेष कार्यक्रम का होता है आयोजन

भारत में सेना की वीरता को याद करने के लिए का विजय दिवस मनाया जाता है. भारतीय सेना ने कई मौको पर अपने साहस के बल पर देश का सम्मान की रक्षा की है. संपूर्ण भारत अपनी सेना पर गर्व करता है. जिनके बलिदान की वजह से हमारी देश की सीमा सुरक्षित है. बीते समय में देश का नाश देखने वाली शक्तियों ने कई बार देश को तोड़ने का प्रयास किया लेकिन अंत में अपनी योजना में सेना की वजह से असफल रहे है. भारत में विजय दिवस के मौके पर कई आयोजन किए जाते है. ताकि हम इस दिन को उत्साह से मना सके.

नागरिकता कानून के समर्थन में आईं तस्लीमा नसरीन, कहा- ये मुस्लिमों के खिलाफ नहीं

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि 16 दिसंबर को विजय दिवस के रूप में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. इस मौके पर 1971 के युद्ध में शामिल रहे सैनिक और उनके परिजनों का सम्मान किया जाएगा. कई प्रतियोगिताएं होंगी तथा जिला स्तर पर कार्यक्रम आयोजित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

2 लाख महिलाओं के साथ हुआ था बलात्कार, मारे गए थे 30 लाख लोग, तब कहीं जाकर बना था बांग्लादेश

इस बार मध्यप्रदेश में शहीदों के परिजनों तथा युद्ध में भाग लेने वाले सैनिकों की सम्मान की योजना बनाई गई है. इसके अलावा सीएम के संदेश का वाचन होगा. 16 दिसंबर 1971 को भारतीय सेना के विजय के संबंध में नई पीढ़ी को अवगत कराने के लिए सभी प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में विजय दिवस कार्यक्रम आयोजित होंगे. इसके अलावा विजय दिवस पर जिला मुख्यालयों पर विजय दिवस दौड़ होगी. 

सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान करने के कारण व्यक्ति को हुई जेल

बिहार: समस्तीपुर में खेत से बरामद हुआ महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस

जबलपुर: नाले के पास खून से लथपथ मिली पांच वर्षीय मासूम, परिजनों ने लगाया दुष्कर्म का आरोप

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -