विजय भट्ट ने किया था फिल्म बैजू बावरा का निर्देशन

विजय भट्ट ने किया था फिल्म बैजू बावरा का निर्देशन

विजय भट्ट एक हिंदी फिल्म निर्माता निर्देशक और लेखक थे. उनका जन्म 12 मई 1907 में पलीटाना, जिला भावनगर में गुजरात में हुआ था. उन्होंने प्रकाश पिक्चर्स की स्थापना की जो की एक फिल्म प्रोडक्शन कंपनी थी जिसके अंतर्गत लगभग 60 फिल्मों का निर्माण किया गया. भट्ट युवावस्था में अपने बड़े भाई शंकरलाल भट्ट के साथ मुंबई आ गए यहाँ उन्होंने सेंट सेविअर्स कॉलेज में दाखिला लिया और शिक्षा प्राप्त की बाद में उन्होंने 'इलेक्ट्रिकल लाइटनिंग एंड ट्रैक्शन' में डिप्लोमा प्राप्त किया। 

इलेक्ट्रिकल से डिप्लोमा करने के बाद उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 'बॉम्बे इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रेमवेस कंपनी लिमिटेड ' के साथ की, वे पहले ही गुजराती सिनेमा के लिए स्क्रिप्ट लिख चुके थे, लेकिन उनकी ज़िन्दगी में मोड़ तब आया, जब उनकी मुलाकात अर्देशिर ईरानी से हुई, ईरानी ने भट्ट की 2 स्क्रिप्ट प्रोड्यूस की जिनका नाम था पानी में आग और ग़ुलाम.

विजय भट्ट ने हिंदी सिनेमा में फिल्म लेखक के रूप में पहला कदम रक्खा और  'विधि का विधान' की स्क्रिप्ट लिखी जिसे के.पी. भावे ने डायरेक्ट की थी. इसके बाद आखिरकार भट्ट ने अपनी पहली मूक फिल्म दिल्ली का छैला प्रोड्यूस की, इसके बाद उन्होंने कई हिंदी, गुजराती और मराठी फिल्म बनायीं. उनकी फिल्म राम राज्य एक बहुत बड़ी हिट साबित हुई. उन्होंने कई मशहूर हिंदी फिल्मो का निर्माण किया जिनमे से कुछ नाम है - राम राज्य, बैजू बावरा, गूँज उठी शहनाई और हिमालय की गोद में. विजय भट्ट का 17 अक्टूबर 1993 को 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया.

नवरात्रि पर जुब‍िन नौट‍ियाल का फैंस के लिए बेहतरीन तोहफा, इस देवी गीत को दी अपनी आवाज

नवरात्रि में इन बॉलीवुड गरबा सांग्स से जमेगी महफ़िल

नवरात्रि में खूब बजते हैं इन फिल्मों के यह बेहतरीन गाने