बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर सतर्कता के निर्देश

Dec 06 2017 08:20 AM
बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर सतर्कता के निर्देश

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद में विवादित ढांचे (बाबरी मस्जिद) को ढहाए जाने के आज 25 साल पूरे हो गए. इस मौके पर केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने सतर्कता बरतने के निर्देशदेते हुए यह सलाह सभी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के लिए जारी की है.

उल्लेखनीय है कि 6 दिसंबर 1992 को विवादित ढांचा ढहाने के बाद से हर साल दिसंबर में गृह मंत्रालय यह निर्देश जारी करता है.इसमें राज्यों से सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए 2008 में जारी हुई गाइड लाइन केअनुसार कदम उठाने के निर्देश दिए जाते हैं .इस घटना का इस साल इसलिए अधिक महत्व है, क्योंकि 5 दिसंबर 2017 से सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई कर रहा है.

बता दें कि 6 दिसंबर को विश्व हिन्दू परिषद(विहिप) और बजरंग दल शौर्य दिवस के रूप में मनाता है. प्रति वर्ष इसको लेकर देश के करीब 100-150 हिस्सों में कार्यक्रम होते है, लेकिन इस बार दोनों संगठनों ने करीब 2000 स्थानों में इसे मनाने की तैयारी की है.शौर्य दिवस को गुजरात में भी मनाने की योजना है. जबकि दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता में पीठ इस मामले के पक्षकारों की दलील सुन रही है .अब इस मामले की अगली सुनवाई 8 फरवरी को होगी.

यह भी देखें

राममंदिर को लेकर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला

एससी में अपील - राम मंदिर की जगह बने सार्वजनिक ईमारत