VIDEO: 107 वर्ष पहले चोरी हुई थी माँ अन्नपूर्णा की मूर्ति, आज की जा रही है प्रतिमा की काशी में प्राण प्रतिष्ठा

लखनऊ: 107 वर्ष पूर्व  चोरी हुई मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा को कनाडा से इंडिया लाया गया और अब काशी में प्राण प्रतिष्ठा की जा चुकी है। मां अन्नपूर्णा की इस प्राण प्रतिष्ठा पूजा में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ खुद शामिल हुए।  तकरीबन 107 वर्ष पूर्व वाराणसी से चुराई गई मूर्ति को कनाडा से 15 अक्टूबर को बरामद किया गया था। यूपी गवर्नमेंट के प्रतिनिधियों ने 11 नवंबर को मंत्र जाप के दौरान एक धार्मिक समारोह  के उपरांत भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण से पत्थर की मूर्ति प्राप्त की थी। प्रतिमा के वाराणसी आगमन के साथ ही रविवार रात्रि मां अन्नपूर्णा की 4 दिवसीय 'शोभा यात्रा' का समापन किया गया। यात्रा के बीच अपने अंतिम गंतव्य पर पहुंचने से पहले कासगंज, कानपुर, अयोध्या समेत कई स्थानों पर मां अन्नपूर्णा की प्रतिमा का धूमधाम से स्वागत किया गया है।

जहां इस बात का पता चला है कि मां अन्नपूर्णा की मूर्ति को लाल रंग का लहंगा पहनाया गया, जबकि सिर पर चांदी की छतरी भी रखी गई। दिल्ली से काशी विश्वनाथ मंदिर तक की 800 किलोमीटर की यात्रा के बीच मूर्ति एक भव्य लकड़ी के सिंहासन पर बैठाई गई। मां अन्नपूर्णा को भोजन और पोषण की देवी माना जाता है। मूर्ति की ऊंचाई 17 सेमी, चौड़ाई 9 सेमी और मोटाई 4 सेमी है।

जिसके पूर्व  रविवार को मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना को पूरा किया गया। उन्होंने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना की प्रगति का भी निरीक्षण कर लिया है। उन्होंने  बोला है देवी अन्नपूर्णा 'शोभा यात्रा' यहां पहुंचेगी और यहां देवी की मूर्ति स्थापित की जाने वाली है।

 

NCR में लॉकडाउन लगाने वाली बात पर दिल्ली सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया हलफनामा

गुवाहाटी में दी गई असम राइफल्स के शहीद जवान को श्रद्धांजलि

क्या दिल्ली में एक बार फिर से लग जाएगा लॉक डाउन, सुप्रीम कोर्ट में शुरू हुई सुनवाई

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -