आतंकवाद से निपटने के लिए सभी देशों को मिलकर काम करने की जरूरत : उपराष्ट्रपति

नई दिल्ली : उपराष्ट्रपति मोहम्मद हामिद अंसारी ने कहा है कि आतंकवाद वैश्विक खतरा है और इससे निपटने के लिए पूरे विश्व को एक साथ मिलकर प्रभावी कदम उठाने चाहिए. अंसारी कंबोडिया और लाओस की चार दिवसीय यात्रा पूरी कर कल देर रात ही भारत लौटे हैं. उनकी इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के साथ आपसी सहयोग के लिए कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए. 

अंसारी ने स्वदेश लौटते समय अपने विशेष विमान में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि आतंकवाद लगभग सभी देशेां के लिए खतरा है. भारत इस क्षेत्र में शांति बनाए रखना चाहता है क्योंकि शांति के बिना कोई भी देश उन्नति नहीं कर सकता. उन्होने कहा कि ‘‘भारत पडोसी देशों के साथ अच्छे और मित्रतापूर्ण संबंध स्थापित करना चाहता है और उनके विकास में भागीदार बनना चाहता है.’’

दोनों देशों के नेतृत्व के साथ चर्चा को मैत्रीपूर्ण बताते हुए उन्होंने कहा कि दौरे के दौरान दोनों पक्षों के लाभ के लिए कई समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए. उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु और पूर्व राष्ट्रपति राजेन्द्र प्रसाद ने लगभग 60 साल पहले कंबोडिया और लाओस से मित्रता और सहयोग के संबंधों की शुरुआत की थी. उन्होंने कहा कि भारत, कंबोडिया और लाओस से करीबी संबंध स्थापित करना चाहता है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -