गरबा आयोजन में दूसरे धर्म के लोगों पर प्रतिबंध, VHP ने किया मंथन

Oct 07 2015 10:19 AM
गरबा आयोजन में दूसरे धर्म के लोगों पर प्रतिबंध, VHP ने किया मंथन

अहमदाबाद : एक बार फिर हिंदूवादी संगठन अन्य धर्मों के अनुयायियों के प्रति कट्टरता बरतने लगे हैं। इस दौरान यह बात सामने आई है कि गुजरात के रहवासी क्षेत्र में आयोजित होने वाले गरबा कार्यक्रमों में मुसलमानों और ईसाईयों सहित गैर हिंदूओं को भी नहीं आने दिया गया है। संगठन द्वारा यह कहा गया है कि राज्य में गरबा स्थल पर स्वयंसेवक इस तरह के आयोजनों में निगरानी रखेंगे।

एक बार फिर नवरात्रि के दौरान गरबा कार्यक्रमों में मुस्लिम और ईसाई धर्म के अनुयायियों को प्रवेश न दिए जाने की बात विश्वहिंदू परिषद द्वारा की गई। इस मामले में संगठन द्वारा कहा गया कि अगर गैर हिंदू गरबे में आना चाहते है तो उनके लिए हिंदू धर्म को गले लगाने का विकल्प दिया गया है। विश्वहिंदू परिषद द्वारा कहा गया कि इस तरह के त्यौहारों में मुस्लिम युवक हमारी लड़कियों को फंसाने के लिए आते है। इस दौरान लव जिहाद की घटनाओं को रोकने हेतु ऐसे आवश्यक कदम उठाए जाने आवश्यक हैं। 

इस मामले में यह बात भी कही गई है कि उन्हें ध्यान रखना होगा कि लव जिहाद के अतिरिक्त नवरात्रि हिंदूओं का पावन धार्मिक पर्व है। दूसरों को इसका भागीदार बनने के लिए उन्हें उत्साहित होना होगा। इस तरह का कदम उठाने के अतिरिक्त सोसायटियों को भी इस तरह की पाबंदी लगानी होगी। मामले में धारवाड़ से यह कहा गया है कि प्रधानमंत्री द्वारा सबका साथ और सबका विकास की चर्चा करते हैं तो उन्होंने कहा कि सरकार का इस मामले से कोई सरोकार नहीं है। आखिर इस तरह के निर्देशों की क्या प्रासंगिकता है।नवरात्रि किसी तरह का सरकारी कार्यक्रम नहीं है।