वास्तु टिप्स: बाथरूम में रखी ये चीजें बढ़ाती हैं गरीबी, घर में आती है नकारात्मक ऊर्जा

वास्तु टिप्स: बाथरूम में रखी ये चीजें बढ़ाती हैं गरीबी, घर में आती है नकारात्मक ऊर्जा
Share:

वास्तु शास्त्र, एक प्राचीन भारतीय वास्तुकला सिद्धांत है, जो सुझाव देता है कि घर में रखी गई हर वस्तु निवासियों के जीवन को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित करती है। यह दावा करता है कि बाथरूम में रखी गई वस्तुएँ सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरह की ऊर्जाओं को आकर्षित कर सकती हैं, जिससे घर की समृद्धि प्रभावित होती है। यहाँ कुछ ऐसी वस्तुएँ बताई गई हैं जिनके बारे में माना जाता है कि वे वित्तीय कठिनाइयाँ लाती हैं:

टूटे दर्पण

वास्तु शास्त्र के अनुसार बाथरूम में टूटा हुआ दर्पण रखना बहुत ही बुरा माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि इससे आर्थिक अस्थिरता आती है और इसे नकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार टूटे हुए दर्पण गरीबी का कारण बन सकते हैं। इसलिए अगर आपके बाथरूम में टूटा हुआ दर्पण है, तो उसे तुरंत बदलकर नया दर्पण लगवाना उचित है।

टूटी चप्पलें

इसी तरह, वास्तु शास्त्र के अनुसार बाथरूम में टूटी हुई चप्पल रखना अशुभ माना जाता है। ज्योतिषीय रूप से, माना जाता है कि टूटी हुई चप्पलें ग्रहों की स्थिति से संबंधित नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करती हैं, जो संभावित रूप से घर में दुर्भाग्य का कारण बनती हैं। टूटी हुई चप्पलों को त्यागकर उनकी जगह नई चप्पलें पहनने की सलाह दी जाती है।

खाली बाल्टियाँ

वास्तु शास्त्र में बाथरूम में खाली बाल्टियाँ रखने को घर में दुर्भाग्य को आमंत्रित करने वाला माना जाता है। खाली बाल्टियाँ दरिद्रता और आर्थिक नुकसान का प्रतीक हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार खाली बाल्टियाँ धन में कमी ला सकती हैं। इसलिए सलाह दी जाती है कि बाथरूम में हमेशा भरी हुई बाल्टियाँ रखें या उन्हें पूरी तरह से हटा दें।

गीले कपड़े

अगर बाथरूम में कपड़े गीले हो जाएं तो उन्हें तुरंत उतारकर घर के बाहर सुखा देना चाहिए। माना जाता है कि बाथरूम में गीले कपड़े छोड़ने से सौर ऊर्जा में गड़बड़ी आती है। गीले कपड़े घर में नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करते हैं, जिससे नकारात्मकता और विवाद बढ़ने की संभावना होती है।

पौधे

वास्तु शास्त्र के सिद्धांतों के अनुसार, बाथरूम में पौधे नहीं रखने चाहिए। बाथरूम में रखे पौधे जल्दी खराब हो जाते हैं और माना जाता है कि ये घर में वास्तु दोष बढ़ाते हैं। पौधों को सूरज की रोशनी और ताज़ी हवा की ज़रूरत होती है, जो बाथरूम में हमेशा उपलब्ध नहीं होती। इसलिए, बाथरूम से पौधों को घर के दूसरे हिस्से में रखना उचित है, जहाँ उन्हें पर्याप्त रोशनी और हवा मिल सके। ये वास्तु टिप्स घर के अंदर वस्तुओं की व्यवस्था पर ध्यान देने के महत्व को उजागर करते हैं, खासकर बाथरूम जैसे क्षेत्रों में जहां स्वच्छता और स्वच्छता सर्वोपरि है। इन दिशा-निर्देशों का पालन करने से घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह बनाए रखने और समग्र कल्याण को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

महिंद्रा स्कॉर्पियो एन Z8 सेलेक्ट ऑटोमैटिक का रिव्यू पढ़ें, कीमत पर बेस्ट डील!

देखें विनफास्ट वीएफ ई34 की पहली झलक, जानिए भारतीय बाजार में कब देगी दस्तक?

रेनो की नई हॉट-हैच इलेक्ट्रिक कार लॉन्च, मिलेगी 380 किमी की रेंज

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -