भाजपा के वरुण या कांग्रेस के वरुण

आगरा। संभावना जताई जा रही है कि, भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरूण गांधी भाजपा, छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। इस मामले में मुस्लिम नेता हाजी जमीलुद्दीन ने बताया है कि, भारतीय जनता पार्टी में सांसद वरूण गांधी को नज़रअंदाज़ कर दिया गया है, भारतीय जनता पार्टी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अतिरिक्त किसी को भी अपनी बात कहने का अधिकार नहीं है।

सांसद वरूण गांधी ने इस दौरान अपनी बात कही और कहा कि, भारतीय जनता पार्टी के समर्थकों ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री हेतु वरूण गांधी का नाम प्रमुखता से सामने रखा था। इस मामले में हाजी मंजूर ने कहा कि, वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव से पूर्व वरूण कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

वरूण गांधी भारतीय जनता पार्टी में उपेक्षा के शिकार थे। पार्टी फोरम पर चर्चा करने के बाद भी वरूण को उत्तरप्रदेश की राजनीति और केंद्रीय राजनीति में उपयुक्त महत्व नहीं मिल रहा था। ऐसे में अब माना जा रहा है कि, वे कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं। गौरतलब है कि, सांसद वरूण गांधी रोहिंग्या मुसलमान मसले पर भाजपा से अलग हटकर चर्चा करते रहे हैं। उनका मानना रहा है कि भारत को रोहिंग्या मुसलमानों की मदद करना चाहिए।

क्या योगी का धुंआधार प्रचार, लगाएगा भाजपा की नैया पार?

मेवाणी के तेवर से कांग्रेस मुश्किल में

चाय बेच लूंगा लेकिन देश नहीं - पीएम मोदी

स्कूलों में 'यस सर' की जगह 'जय हिंद' कहना अनिवार्य

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -