हमें तुच्छ राजनीति को राष्ट्रीय एकता के ऊपर नहीं रखना चाहिए: वरुण गाँधी

लखीमपुर खीरी: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर बीजेपी के अंदर अब विवाद बढ़ते हुए देखा जा रहा है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से लोकसभा सांसद वरुण गाँधी एक बार फिर से अपनी ही पार्टी को निशाने पर लिए हुए हैं। उन्होंने हाल ही में एक ट्वीट किया है।

इस ट्वीट में वह लिखते हैं- ''लखीमपुर खीरी की घटना को हिंदू बनाम सिख की लड़ाई में तब्दील करने की कोशिश हो रही है। ये न सिर्फ़ अनैतिक है बल्कि झूठ भी है। ऐसा करना ख़तरनाक है और उन जख़्मों को कुरेदने जैसा है, जिन्हें ठीक होने में पीढ़ियाँ लगीं। हमें तुच्छ राजनीति को राष्ट्रीय एकता के ऊपर नहीं रखना चाहिए।"

आप सभी जानते ही होंगे कि केंद्र और राज्य दोनों में बीजेपी की ही सरकार है ऐसे में वरुण गाँधी की ये शिकायत व्यवस्था से ही है। अब तक वरुण गांधी किसानों के आंदोलन को लेकर अपनी सरकार को संवेदनशीलता से हल करने की सलाह दे चुके हैं। वह गन्ना के समर्थन मूल्य को लेकर भी राज्य सरकार पर निशाना साधते रहे हैं और तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत को लेकर वो लगातार ट्विटर पर सवाल उठा रहे हैं।

अजय कुमार मिश्रा को इस्तीफा दे देना चाहिए: भूपेंद्र सिंह हुड्डा

आज वाराणसी में होगी प्रियंका गांधी की 'किसान न्याय रैली'

राहुल गांधी का लखीमपुर खीरी का दौरा 'राजनीतिक पर्यटन' का उदाहरण है: गिरिराज सिंह

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -